सीमा विवाद सुलझाने में भारत के साथ मिलकर काम करेंगे, USA न दे दखल: चीन

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने बीते दिनों आरोप लगाया था कि चीन अपने पड़ोसियों को डराने-धमकाने की कोशिशें कर रहा है। कियान ने साकी की इस टिप्पणी की आलोचना करते हुए कहा कि कुछ अमेरिकी राजनेताओं को 'बलपूर्वक' शब्द का उपयोग करने का बहुत शौक है।

सीमा विवाद सुलझाने में भारत के साथ मिलकर काम करेंगे, USA न दे दखल: चीन

भारत स्थित पूर्वी लद्दाख में सीमा पर लंबे समय से चले आ रहे गतिरोध को लेकर चीन ने कहा है कि इस मुद्दे के उचित समाधान के लिए हम भारत के साथ मिलकर काम करेंगे। इसके साथ ही उसने अमेरिका की आलोचना भी की जिसने यह आरोप लगाते हुए चिंता व्यक्त की है कि चीन अपने पड़ोसियों को धमकाने की कोशिशें कर रहा है। चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा कि सीमा विवाद एक द्विपक्षीय मुद्दा है और भारत व चीन दोनों ही इसमें तीसरे पक्ष के दखल का विरोध कर चुके हैं।

इस विवाद को हल करने के लिए भारत और चीन राजनयिक और सैन्य चैनलों के माध्यम से वार्ताएं कर रहे हैं। इसी क्रम में 14वें दौर की सैन्य वार्ता का आयोजन 12 जनवरी को हुआ था। यहां दोनों पक्षों ने पूर्वी लद्दाख में गतिरोध के बाकी मुद्दों पर पारस्परिक रूप से स्वीकार्य समाधानों पर पहुंचने के लिए इन वार्ताओं को जारी रखने पर सहमति जताई थी। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वू कियान ने गुरुवार को कहा कि वार्ता का नवीनतम दौर सकारात्मक और रचनात्मक रहा।