फेसबुक का एक्शन, 2.46 करोड़ पोस्ट हटा दी गईं, मेटा ने बताई, ये थी वजह

मेटा ने 1 करोड़ 49 लाख स्पैम सामग्री, 25 लाख हिंसक और ग्राफिक सामग्री और 21 लाख वयस्क नग्नता और यौन गतिविधि से संबंधित सामग्री पर कार्रवाई की है। कंपनी का कहना है कि हमारी टीम शिकायतों पर नीतियों के खिलाफ सामग्री की पहचान और समीक्षा करती है।

फेसबुक का एक्शन, 2.46 करोड़ पोस्ट हटा दी गईं, मेटा ने बताई, ये थी वजह
Photo by Austin Distel / Unsplash

मेटा (फेसबुक का नया नाम) ने भारत के आईटी नियम 2021 के अनुसार मार्च के महीने में अपने प्लेटफॉर्म से 2 करोड़ 46 लाख पोस्ट या सामग्री हटा दी है। वहीं अपने दूसरे प्लेटफॉर्म इंस्टाग्राम से 27 लाख से अधिक सामग्री को भी नीतियों के चलते हटाया गया है।

मार्च 1-31 के बीच मेटा को फेसबुक के लिए भारतीय शिकायत तंत्र के माध्यम से 656 शिकायतें मिली थीं, जिसका कंपनी ने 100 फीसदी जवाब दिया। मेटा ने अपनी अनुपालन रिपोर्ट में कहा कि हमने फेसबुक यूजर के 556 मामलों में उनके मुद्दों को हल करने के लिए तकनीकी टूल्स दिए ताकि वह खुद ब खुद पोस्ट पर एक्शन ले सकें। वहीं इंस्टाग्राम के लिए कंपनी को भारतीय शिकायत तंत्र के माध्यम से 1,150 रिपोर्ट मिलीं थी जिनका भी 100 फीसदी जवाब दिया गया था।

What People Really Do On Facebook
कंपनी ने बताया कि हम सामग्री को पोस्ट, फोटो, वीडियो या टिप्पणियों की संख्या में मापते हैं। Photo by Glen Carrie / Unsplash

कंपनी ने बताया कि रिपोर्ट फेसबुक और इंस्टाग्राम से हानिकारक सामग्री को हटाने के हमारे प्रयासों का वर्णन करती है और फेसबुक व इंस्टाग्राम को सुरक्षित और समावेशी बनाने के लिए हमारी निरंतर प्रतिबद्धता को प्रदर्शित भी करती है। हम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के संयोजन का उपयोग करते हैं। हमारी टीम शिकायतों पर नीतियों के खिलाफ सामग्री की पहचान और समीक्षा करती है। मेटा ने 1 करोड़ 49 लाख स्पैम सामग्री, 25 लाख हिंसक और ग्राफिक सामग्री और 21 लाख वयस्क नग्नता और यौन गतिविधि से संबंधित सामग्री पर कार्रवाई की है। कंपनी ने बताया कि हम सामग्री को पोस्ट, फोटो, वीडियो या टिप्पणियों की संख्या में मापते हैं।

फरवरी में मेटा ने फेसबुक के लिए 2 करोड़ 12 लाख और इंस्टाग्राम के लिए 24 लाख से ऐसी सामग्री को हटाया था। मेटा के स्वामित्व वाले व्हाट्सएप से भी नए आईटी नियम 2021 के अनुपालन में मार्च के महीने में भारत में 18 लाख से अधिक खराब खातों पर प्रतिबंध लगाया गया है। बता दें कि नए आईटी नियम 2021 के तहत 50 लाख से अधिक यूजर्स वाले बड़े डिजिटल और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को मासिक अनुपालन रिपोर्ट प्रकाशित करनी होती है।