ड्रग तस्कर की कनाडा में हत्या क्या भारत की ‘बड़ी मछलियों’ को बचाने के लिए की गई?

फरवरी 2018 में भारत के पंजाब प्रांत के तत्कालीन मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इन 11 ड्रग तस्करों का नाम कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो को सौंपा था और इनके जल्द प्रत्यपर्ण की मांग की थी।

ड्रग तस्कर की कनाडा में हत्या क्या भारत की ‘बड़ी मछलियों’ को बचाने के लिए की गई?

कुख्यात ड्रग तस्कर सरबजीत सिंह संदेर की कनाडा में हत्या हो गई है। करीब 57 साल के संदेर की लाश 10 फरवरी को कनाडा के लैंग्ले में मिली थी। कनाडा की केंद्रीय और राज्य सुरक्षा एजेंसियों ने गुरुवार को संदेर की मौत की पुष्टि की। संदेर भारत के पंजाब प्रांत में 6 हजार करोड़ के ड्रग स्मगलिंग केस में आरोपी थे। इस केस में पंजाब पुलिस के बर्खास्त डीएसपी जगदीश भोला का भी नाम आया था। इसके अलावा कुछ राजनेताओं पर भी मामले में मुकदमा चल रहा है।

हालांकि कनाडा पुलिस ने संदेर की मौत की पुष्टि कर दी है, लेकिन भारतीय पुलिस को भरोसा नहीं हो रहा है कि यह वही ड्रग तस्कर संदेर है, जिसकी तलाश भारत को है। वहीं, पंजाब चुनाव के बीच सरबजीत संदेर की मौत कई तरह के सवालों को भी जन्म दे रही है। पंजाब पुलिस के सूत्रों का कहना है कि इससे करोड़ों रुपये के अंतरराष्ट्रीय ड्रग तस्करी मामले की चल रही जांच में धक्का पहुंच सकता है। क्योंकि इस मामले में कई सफेदपोश राजनेताओं और हस्तियों के नाम सामने आए हैं। उधर, कनाडा के अधिकारियों का कहना है कि पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि इस हत्या के पीछे मकसद क्या था।