इस 35 वर्षीय अमेरिकी-भारतीय ने ऐसा क्या किया कि दोबारा चुन लिए गए!

सुहास ने कहा, मैं उन सभी कर्मचारियों और स्वयंसेवियों का आभारी हूं जो मेरे लिए प्रचार करने के लिए घर-घर गए, पोस्टकार्ड लिखे और फोन कॉल किए। यह आप लोगों के बिना संभव नहीं हो सकता था।

इस 35 वर्षीय अमेरिकी-भारतीय ने ऐसा क्या किया कि दोबारा चुन लिए गए!

वर्जीनिया हाउस ऑफ डेलीगेट्स में मौजूदा प्रतिनिधि डेमोक्रेट सुहास सुब्रमण्यम एक और कार्यकाल के लिए चुने गए हैं। भारतीय-अमेरिकी सुहास ने ग्रेग माउल्थ्रॉप को हराकर दूसरा कार्यकाल पक्का किया।

सुहास सुब्रमण्यम व्हाइट हाउस तकनीकी नीति को लेकर पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के सलाहकार भी रह चुके हैं।

चुनाव अधिकारियों की ओर से जारी प्राथमिक परिणामों के अनुसार सुहास सुब्रमण्यम को कुल 21,374 वोट मिले, जो कि लगभग 60 फीसदी है। वहीं, ग्रेग को कुल 13,939 (लगभग 40 फीसदी) वोट ही मिले। 35 वर्षीय सुहास सुब्रमण्यम वर्जीनिया हाउस ऑफ डेलीगेट्स में डिस्ट्रिक्ट 87 का प्रतिनिधित्व करते हैं। साथ ही राज्य की महासभा (जनरल असेंबली) में सीट जीतने वाले वह पहले भारतीय-अमेरिकी भी हैं।