गैबॉन में भारतीय समुदाय से मिले उप राष्ट्रपति नायडू, सेनेगल व कतर भी जाएंगे

गैबॉन में लगभग 800 भारतीय रहते हैं। ये लोग इन्फ्रास्ट्रक्चर परियोजनाओं, व्यापार, लकड़ी और मेटल स्क्रैप के निर्यात जैसे काम करते हैं। उपराष्ट्रपति ने इस बात को लेकर प्रसन्नता जाहिर की कि बड़े भारतीय त्योहारों को यहां पूरा समुदाय एक साथ मनाता है।

गैबॉन में भारतीय समुदाय से मिले उप राष्ट्रपति नायडू, सेनेगल व कतर भी जाएंगे

भारत के उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू इस समय तीन अफ्रीकी देशों की यात्रा पर हैं। इस दौरे के पहले चरण में नायडू सोमवार को मध्य अफ्रीकी देश गैबॉन पहुंचे थे। यहां उन्होंने कहा कि भारत अफ्रीका के साथ अपने संबंधों को बहुत प्राथमिकता देता है।

तीन देशों की इस यात्रा में नायडू गैबॉन, सेनेगल और कतर जाएंगे। गैबॉन की राजधानी लिबरेविले में नायडू ने भारतीय समुदाय की ओर से आयोजित एक समारोह में भी हिस्सा लिया। उन्होंने गैबॉन के विकास में उल्लेखनीय योगदान के लिए छोटे लेकिन महत्वपूर्ण भारतीय प्रवासी समुदाय की सराहना की।

गैबॉन में लगभग 800 भारतीय रहते हैं। ये लोग इन्फ्रास्ट्रक्चर परियोजनाओं, व्यापार, लकड़ी और मेटल स्क्रैप के निर्यात जैसे काम करते हैं। उपराष्ट्रपति ने इस बात को लेकर प्रसन्नता जाहिर की कि बड़े भारतीय त्योहारों को यहां पूरा समुदाय एक साथ मनाता है। नायडू ने उनसे स्थानीय कानूनों और रीति-रिवाजों का सम्मान करने के साथ-साथ सहभागिता व देखभाल, अपने से बड़ों और प्रकृति का सम्मान करने के सदियों पुराने भारतीय मूल्यों को संजोए रखने का आह्वान भी किया।

मंगलवार को नायडू ने गैबॉन के शीर्ष नेतृत्व के साथ व्यापक बातचीत की थी। नायडू ने एक ट्वीट में कहा, ‘हम गैबॉन की विकास गाथा में सक्रिय भागीदार बनने के लिए प्रतिबद्ध है। हम बेहतर कल के लिए साथ मिलकर अपने आर्थिक सहयोग को बढ़ा सकते हैं।’ वेंकैया नायडू की यह यात्रा किसी भी भारतीय उप राष्ट्रपति की ओर से तीनों देशों की पहली यात्रा है। उप राष्ट्रपति कार्यालय की ओर से जारी बयान के अनुसार नायडू बुधवार को सेनेगल में होंगे। उनकी यात्रा का अंतिम पड़ाव कतर होगा जहां वह चार से सात जून तक रहेंगे।