अमेरिका की इमिग्रेशन पॉलिसी के खिलाफ भारतीयों ने डाली याचिका

नए नियम के तहत एल-2 वीजा धारक और एल-1 वीजा धारक को 10-15 महीने तक बिना नौकरी के रहना पड़ता है। मुकदमा (lawsuit) पिछले सप्ताह वाशिंगटन के पश्चिमी जिला न्यायालय में 15 याचिकर्ताओं के एक समूह द्वारा दायर किया गया था। जिनमें से 13 भारतीय नागरिक हैं।

अमेरिका की इमिग्रेशन पॉलिसी के खिलाफ भारतीयों ने डाली याचिका
Photo by mana5280 / Unsplash

भारतीय नागरिकों के एक समूह ने अमेरिका की इमिग्रेशन पॉलिसी को चुनौती देते हुए 'क्लास एक्शन सूट' दायर किया है जो एल-2 वीजा धारक (L2 Visa Holder) को वर्क परमिट नहीं मिलने तक यूएस में नौकरी करने से रोकता है।

Sign here
Photo by Scott Graham / Unsplash

मुकदमा (lawsuit) पिछले सप्ताह वाशिंगटन के पश्चिमी जिला न्यायालय में 15 याचिकर्ताओं के एक समूह द्वारा दायर किया गया था। जिनमें से 13 भारतीय नागरिक हैं। इमिग्रेशन लॉ फर्म, वासन बनियास के वकील जोनाथन वासडेन बताते हैं कि कानून के अनुसार एल-2 वीजा धारक और एल-1 वीजा धारक ऑथराइज्ड एम्प्लॉयमेंट के अंदर आते हैं। इसका मतलब यह है कि उन्हें अलग से वर्क परमिट के लिए आवेदन किए बिना काम करने की अनु​मति देनी चाहिए।