अमेरिका: वर्क परमिट के लिए प्रीमियम में इजाफे का प्रस्ताव, अप्रवासी नाराज

एच-4 वीजा पर अमेरिका आईं मीता एन का कहना है कि उन्हें कुछ साल पहले ही वर्क परमिट मिला है। जो काम नॉमर्ल प्रोसेस से हो जाना चाहिए उसके लिए हम क्यों ज्यादा प्रीमियम भरें। एक अन्य परेशान अप्रवासी ने बताया कि हर साल नए तरह के सुझाव और प्रस्ताव आते रहते हैं। पेपरवर्क हमें परेशान करता है।

अमेरिका: वर्क परमिट के लिए प्रीमियम में इजाफे का प्रस्ताव, अप्रवासी नाराज

अमेरिका की देवी श्री को इस बात का इंतजार है कि उन्हें डिपेंडेंट वर्क परमिट कब मिलेगा। वर्क परिमट के रेन्यू होने में देरी की वजह से वह एक स्मॉल कंसल्टेंसी फर्म में अपनी जॉब गंवा चुकी हैं। वहीं दूसरी तरफ यूनाइटेड स्टेट्स सिटिजनशिप एंड इमिग्रेशन सर्विसेज (USCIS) ने अपने नियमों में विस्तार करते हुए वर्क परमिट के लिए प्रीमियम में इजाफे के लिए वाइट हाउस को प्रस्ताव भेजा है। इसे लेकर अमेरिका में रहने वाले अप्रवासियों में गहरी नाराजगी है।

देवी श्री का कहना है कि यदि यह नियम पास हो गया तो यह मेरे लिए बहुत ही पीड़ाजनक होगा। उन्होंने बताया कि मैं अपना जॉब गंवा चुकी हूं। अब यूएससीआईएस चाहता है कि मैं अपना जॉब हासिल करने के लिए और ज्यादा पैसे दूं। उन्होंने बताया कि हमें रोजगार प्राधिकरण दस्तावेज (EAD) को हर समय रिन्यू करना होता है। अब यूएससीआईएस के प्रस्ताव पर मुहर लग गई तो इसका मतलब होगा कि हम जैसे लोगों को हर बार ज्यादा से ज्यादा प्रीमियम भरना होगा।