अमेरिका ने फिर शुरू किया ईबी-5 वीजा प्रोग्राम, लेकिन निवेश राशि में किया इजाफा

नए कानून में निवेशकों के लिए ईबी-5 परियोजनाओं के लिए टारगेटेड एम्प्लॉयमेंट एरिया (TEAs) या इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स में न्यूनतम निवेश राशि पांच लाख डॉलर (करीब 3.81 करोड़ रुपये) बढ़ा कर आठ लाख डॉलर (लगभग 6.09 करोड़ रुपये)कर दी गई है।

अमेरिका ने फिर शुरू किया ईबी-5 वीजा प्रोग्राम, लेकिन निवेश राशि में किया इजाफा
Photo by Samuel Branch / Unsplash

अमेरिका की संसद ने ईबी-5 (EB-5) रीजनल सेंटर प्रोग्राम फिर से शुरू कर दिया है। इससे अमेरिका के ग्रीन कार्ड या स्थायी निवास परमिट पाने की तलाश करने वाले अमीर भारतीयों के लिए निवेश का रास्ता खुल गया है। राष्ट्रपति जो बाइडन ने 11 मार्च को कानून पर हस्ताक्षर किए थे। संसद ने इसे फिर से कम से कम पांच साल के लिए शुरू करने के पक्ष में मतदान किया। यह कार्यक्रम 30 जून 2021 को रुक गया था।

Boeing 757 is a mighty bird
ईबी-5 वीजा को गोल्डन वीजा भी कहा जाता है जो अमेरिकी कंपनियों और नौकरियों में एक न्यूनतम निर्धारित राशि का का निवेश करने के बदले में अमेरिका में रहने की अनुमति देता है। Photo by Artur Voznenko / Unsplash

इसके चलते लगभग 80 हजार निवेशक संकट में आ गए थे क्योंकि कार्यक्रम के समाप्त हो जाने से अमेरिकी नागरिकता एवं आप्रवासन सेवा (USCIS) ने उनके ग्रीन कार्ड आवेदनों की प्रक्रिया रोक दी थी। इन निवेशकों में से अधिकतर चीन और भारत से थे। अब इस कार्यक्रम को फिर से शुरू कर दिया गया है। इस निर्णय ने इन निवेशकों को राहत की सांस दी है। लेकिन इसके साथ ही निवेश की सीमा भी बढ़ाई गई है।