भारतीय छात्रों के आवेदन से कंप्यूटर सिस्टम न हो क्रैश, अमेरिका ने बनाई योजना

अमेरिकी दूतावास के अधिकारी डोनाल्ड एल हेफ्लिन का कहना है कि पिछले साल अमेरिका ने पहले से कहीं अधिक छात्रों का साक्षात्कार लिया और भारत के लिए अधिक छात्र वीजा जारी किए।

भारतीय छात्रों के आवेदन से कंप्यूटर सिस्टम न हो क्रैश, अमेरिका ने बनाई योजना

अमेरिका में पढ़ रहे भारतीय छात्रों की संख्या में 2021 में 12 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि हुई है। साल 2022 में भी हजारों छात्र ऐसे हैं, जिन्होंने अमेरिकी विश्वविद्यालयों में अध्ययन करने की योजना बनाई है। इसे देखते हुए भारत में अमेरिकी दूतावास ने गर्मियों में आवेदन करने वाले भारतीय छात्रों के लिए वीजा आवेदन प्रणाली में बदलाव की योजना बनाई है।

दिल्ली में अमेरिकी दूतावास के अधिकारी डोनाल्ड एल हेफ्लिन का कहना है कि पिछले साल अमेरिका ने पहले से कहीं अधिक छात्रों का साक्षात्कार लिया और भारत के लिए अधिक छात्र वीजा जारी किए। इस साल हमें उम्मीद है कि छात्र वीजा की संख्या पिछले साल जारी किए गए 62,000 से भी अधिक होगी। इसके अलावा हमें देखना होगा कि वीजा आवेदकों की तैयारी कैसी है।

इस साल वीजा पाने वाले छात्रों की संख्या पिछले साल जारी किए गए 62,000 से अधिक होने की संभावना है।

उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी की वजह से बंद अमेरिकी विश्वविद्यालयों के परिसरों को एक बार फिर खोल दिया गया है। पिछले साल हमें दो बड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ा। सबसे पहले भारत से बड़ी संख्या में छात्र वीजा आवेदकों के कारण, हमारा विश्वव्यापी कंप्यूटर सिस्टम क्रैश हो गया। दूसरा, बड़ी संख्या में छात्र वीजा साक्षात्कार स्लॉट ऐसे लोगों को मिल गए जो वास्तविक आवेदक नहीं थे। जबकि हमारे पास अच्छे और वास्तविक छात्र थे जो वीजा के लिए आवेदन कर रहे थे। पिछली गर्मियों में कई आवेदक जिनका हमने साक्षात्कार लिया था, वे दूसरी या तीसरी बार हमारे पास आ रहे थे, जिन्हें छात्र वीजा देने से मना कर दिया गया था।

उन्होंने बताया कि कंप्यूटर सिस्टम को क्रैश होने से बचाने के लिए अमेरिकी सरकार ने इस बार सॉफ्टवेयर में बदलाव किया है। जिन छात्रों को 2022 की गर्मियों में एक बार वीजा देने से मना कर दिया गया था, वे इस साल फिर से वीजा साक्षात्कार के लिए नहीं आ पाएंगे। इसके अलावा छात्र वीजा आवेदकों को सलाह है कि वे अमेरिकी विश्वविद्यालयों से अपने दस्तावेज प्राप्त करने के बाद अपने वीजा अपॉइंटमेंट शेड्यूल करने के लिए अमेरिकी दूतावास की वेबसाइट पर साक्षात्कार की तारीखों की जांच करते रहें।

उन्होंने बताया कि पिछले साल अमेरिकी सरकार द्वारा घोषित वीजा साक्षात्कार माफी योजना से कई भारतीय छात्रों को फायदा हुआ है। कई भारतीय छात्र जो अमेरिका में हैं और अपने परिवारों से मिलने के लिए भारत की यात्रा करना चाहते हैं, वे वीजा छूट ड्रॉप बॉक्स योजना का उपयोग कर रहे हैं। वर्तमान में, इस सुविधा के लिए स्लॉट उपलब्ध है। इसके लिए जो भारतीय छात्र अध्ययन के लिए अमेरिका जा रहे हैं, उनके माता-पिता आगंतुक वीजा पर अपने बच्चों के साथ जा सकते हैं। जिन माता-पिता के पास बी 1-बी 2 वीजा है और जो पिछले कुछ वर्षों में समाप्त हो गए हैं, वे अपने वीजा को रिन्यू करने के लिए ड्रॉप बॉक्स अपॉइंटमेंट लेने का प्रयास कर सकते हैं।