अप्रवासी जीवन-साथियों पर अमेरिकी अदालत ने कौन सी राहत दी है, जानें

मार्च में मुख्य रूप से भारतीय नागरिकों और वकीलों के एक समूह ने उस अमेरिकी नीति को चुनौती देते हुए एक क्लास एक्शन सूट दायर किया था, जो L-2 और H4 वीजा धारकों को वर्क परमिट नहीं होने तक काम करने से रोकता है।

अप्रवासी जीवन-साथियों पर अमेरिकी अदालत ने कौन सी राहत दी है, जानें
L-1 और H1B वीजा धारकों के जीवनसाथियों के लिए अब कार्य प्राधिकरण पर 180 दिनों तक ऑटो विस्तार मिल सकेगा 

एक अमेरिकी कोर्ट के फैसले से अमेरिका में अप्रवासी कामगारों के जीवन-साथियों की आंशिक जीत हुई है क्योंकि उन्हें अब कार्य प्राधिकरण के लिए आवेदन करने की आवश्यकता नहीं होगी। अमेरिकी अदालत ने क्लास-एक्शन मुकदमे पर फैसला सुनाते हुए यूनाइटेड स्टेट्स सिटीजनशिप एंड इमिग्रेशन सर्विसेज (यूएससीआईएस) को L-1 और H1B वीजा धारकों के जीवन-साथियों के लिए कार्य प्राधिकरण पर 180 दिनों तक ऑटो विस्तार की अनुमति देने का निर्देश दिया है।

H4 आवेदकों में 90% से अधिक आवेदक भारतीय महिलाएं हैं।

जहां L-1 जीवन-साथियों या L-2 वीजा धारकों को इसके लिए आवेदन किए बिना विस्तार मिल जाएगा, वहीं H4 वीजा धारकों को अपने रोजगार परमिट की समय सीमा समाप्त होने के बाद भी विस्तार के लिए आवेदन करना होगा।