अमेरिका में महंगाई चरम पर, क्यों हो रही अप्रवासियों की संख्या बढ़ाने की मांग

अमेरिका में लगातार तीसरे महीने सालाना महंगाई 6 फीसदी से अधिक गति से बढ़ी है। यह फेडरल रिजर्व के महंगाई के 2% के टारगेट से तीन गुना ज्यादा है।

अमेरिका में महंगाई चरम पर, क्यों हो रही अप्रवासियों की संख्या बढ़ाने की मांग
Photo by Barbara Zandoval / Unsplash

अमेरिका में महंगाई अपने चरम पर है। वहां उपभोक्ता मूल्य महंगाई सूचकांक दिसंबर में सात फीसदी से अधिक की सालाना दर से बढ़ा जो जून 1982 के बाद सबसे अधिक है। ब्यूरो ऑफ लेबर स्टैटिस्टिक्स ने हाल ही में ये आंकड़े जारी किए। रिपोर्ट के मुताबिक बढ़ती मांग और सप्लाई की कमी के कारण देश में महंगाई बढ़ रही है। ऐसे में अमेरिकी चैंबर ऑफ कॉमर्स के प्रमुख सुजाने क्लार्क ने कानूनी तौर पर अप्रवासियों की संख्या को बढ़ाने का आग्रह किया है।

क्लार्क ने कहा कि इन परिस्थितियों में हमें अधिक कामगारों की जरूरत है। हमें ऐसे लोगों का स्वागत करना चाहिए जो कानूनी तौर पर अमेरिका आना चाहते हैं और यहां रहकर काम करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि इससे महंगाई दर में गिरावट आ सकती है। उन्होंने कहा कि महंगाई दर में उछाल के पीछे सबसे बड़ी वजह यह है कि कामगारों की कमी की वजह से आपूर्ति प्रभावित हो रही है। अगर अप्रवासियों की संख्या में इजाफा होगा तो इससे काम करने वालों की कमी की समस्या से गिरावट आएगी और महंगाई से लड़ने में भी कामयाबी मिलेगी।