प्रिंस विलियम के अर्थशॉट पुरस्कार के लिए दो भारतीयों ने बनाई जगह

दुनिया भर से आए 750 से ज्यादा नामांकन में से सिर्फ 15 व्यक्तियों को विशेषज्ञ सलाहकार पैनल द्वारा चुना गया है। हर फाइनलिस्ट को द अर्थशॉट प्राइज ग्लोबल अलायंस सदस्यों से संसाधन और सहयोग मिलेगा।

प्रिंस विलियम के अर्थशॉट पुरस्कार के लिए दो भारतीयों ने बनाई जगह

ब्रिटेन के प्रिंस विलियम ने अपने अर्थशॉट पुरस्कार के पहले संस्करण के लिए 15 फाइनलिस्टों की घोषणा की, जिसमें तमिलनाडु की 14 वर्षीय स्कूली छात्रा विनीशा उमाशंकर और दिल्ली के उद्यमी विद्युत मोहन भी हैं। दोनों भारतीयों को पुरस्कार के लिए ‘क्लीन आवर एयर’ कैटेगरी में नामांकित किया गया था।

अर्थशॉट प्रिंस विलियम का ड्रीम प्रोजेक्ट है, जो कि यूएस के पूर्व राष्ट्रपति जॉन एफ कैनेडी के 1969 के मूनशॉट प्रोग्राम से प्रेरित है। 

प्रिंस विलियम ने घोषणा करते हुए कहा कि मैं उन 15 लोगों का परिचय कराते हुए सम्मानित महसूस कर रहा हूं, जो द अर्थशॉट पुरस्कार के लिए पहली बार चुने गए हैं। 14 साल की उम्र में विनीशा उमाशंकर ने एक सौर ऊर्जा से चलने वाली इस्त्री विकसित की, जो चारकोल से चलने वाली इस्त्री का एक बेहतर विकल्प देती है। यह प्रोजेक्ट संयुक्त राष्ट्र के 15 सतत विकास लक्ष्यों में से 13 को पूरा करती है।