नई दिल्ली में किसानों का धरना खत्म, आंदोलन जारी, केंद्र से नहीं मिला आश्वासन

संयुक्त किसान मोर्चे के जनरल सेक्रेटरी युद्धवीर सिंह ने दावा किया कि जंतर मंतर पर प्रदर्शन के जरिए हम सरकार तक अपनी आवाज को पहुंचाने में सफल रहे। उन्होंने जानकारी दी कि अब सितंबर में मुजफ्फर नगर में संयुक्त किसान मोर्चे के बैनर तले किसानों की एक महापंचायत आयोजित की जाएगी

नई दिल्ली में किसानों का धरना खत्म, आंदोलन जारी, केंद्र से नहीं मिला आश्वासन

केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहा किसानों का विरोध प्रदर्शन आज भारत की राजधानी नई दिल्ली में समाप्त हो गया। किसान नेताओं का कहना है कि उन्होंने अपने वादे के अनुसार जंतर-मंतर पर चल रहे विरोध प्रदर्शन को तो स्थगित कर दिया है, लेकिन कृषि कानूनों के खिलाफ उनका आंदोलन जारी रहेगा।

उन्होंने घोषणा की है कि अगले माह वे उत्तर प्रदेश के मुजफ्फर नगर में विशाल महापंचायत आयोजित करेंगे, जिसमें कृषि कानूनों के खिलाफ आगे की रणनीति तय की जाएगी। दूसरी ओर किसानों के इस विरोध प्रदर्शन पर केंद्र सरकार ने कोई गंभीरता नहीं दिखाई है और न ही किसानों को कोई ठोस आश्वासन नहीं दिया है।

किसानों ने आज अपने धरने का समाप्त करने की घोषणा की। किसान नेताओं ने यह भी कहा कि स्वतंत्रता दिवस यानी 15 अगस्त के दिन भी वे दिल्ली में कोई कार्यक्रम आयोजित नहीं करेंगे।

केंद्र सरकार के लाए कृषि बिलों के खिलाफ किसानों का पिछले नौ माह से दिल्ली के बॉर्डरों पर आंदोलन चल रहा है। आरोप लग रहे हैं कि पंजाब के किसान नेता ही इस आंदोलन को हवा दे रहे हैं। जबकि किसान नेताओं का दावा है कि उनके इस आंदोलन में देशभर के किसान शामिल है। इस कड़ी में भारत की संसद के वर्षाकालीन सत्र को ध्यान में रखते हुए किसानों ने जंतर-मंतर पर धरने और किसान संसद चलाने की इजाजत पुलिस से मांगी थी।