बांग्लादेश में मंदिरों व हिंदुओं पर हमले के खिलाफ भारत में वीएचपी का प्रदर्शन

विरोध प्रदर्शन में शामिल नेताओं ने भारत सरकार से मांग की है कि उसे मजबूती के साथ बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना को इस बात के लिए मजबूर करना चाहिए कि वह हिंदुओं पर कोई दमन, कोई अत्याचार न होने दें।

बांग्लादेश में मंदिरों व हिंदुओं पर हमले के खिलाफ भारत में वीएचपी का प्रदर्शन

बांग्लादेश में मंदिरों व हिंदुओं पर लगातार हो रहे हमलों के खिलाफ भारत में विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) नामक संगठन ने राजधानी स्थित बांग्लादेश उच्चायोग के सामने विरोध प्रदर्शन किया और आरोप लगाया कि बांग्लादेश में हिंदुओं पर हो रहे अत्याचार बर्बरता की सभी सीमाएं पार कर चुके संगठन ने मांग की है कि भारत सरकार को सांसदों का एक जांच दल बांग्लादेश में भेजना चाहिए जो वहां हिंदुओं पर हो रहे अत्याचारों की पूर्ण जांच करके उसकी रिपोर्ट सार्वजनिक करें।

इस विरोध प्रदर्शन में वीएचपी नेताओं डॉ. सुरेश जैन, कपिल खन्ना आदि के अलावा, महंत नवल किशोर दास, स्वामी राधाकांत वत्स, महंत वैभव शर्मा व अन्य पदाधिकारी शामिल हुए। उन्होंने पूछा कि जिस हिंदू ने संपूर्ण मानवता के कल्याण की कामना की उस हिंदू को अफगानिस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश में क्यों प्रताड़ित किया जा रहा है? उनका आरोप था कि भारत सरकार जितनी मजबूती से अफगानिस्तान और पाकिस्तान में हिंदुओं पर होने वाले अत्याचारों को उठाती है बांग्लादेश में होने वाले अत्याचारों के विरोध में इतनी मजबूती से नहीं खड़ी होती।