एच-1बी वीजा के लिए मिल चुके हैं पर्याप्त आवेदन, भारतीय पेशेवर सबसे आगे

प्रौद्योगिकी कंपनियां भारत और चीन जैसे देशों से हर साल हजारों कर्मियों की नियुक्ति के लिए इसी वीजा पर निर्भर रहती हैं। हर वर्ष करीब 85,000 लोगों को करोड़ों आवेदनों के बीच इस वीजा के लिए चुना जाता है। इ

एच-1बी वीजा के लिए मिल चुके हैं पर्याप्त आवेदन, भारतीय पेशेवर सबसे आगे

अमेरिकी नागरिकता एवं आव्रजन सेवा (यूएससीआईएस) ने बताया कि वित्त वर्ष 2022 के लिए अमेरिका की संसद (कांग्रेस) द्वारा तय 65,000 एच-1बी वीजा सीमा तक पहुंचने के लिए पर्याप्त आवेदन प्राप्त हो चुके हैं। एच-1बी वीजा एक गैर प्रवासी वीजा है, जो अमेरिकी कंपनियों को प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में विशेषज्ञता वाले विशेष कार्यों के लिए विदेशी कर्मियों को तैनात करने की अनुमति देता है। भारत समेत विदेशी पेशेवरों में इस कार्य वीजा की सर्वाधिक मांग रहती है।

अमेरिकी संसद के आदेशानुसार, अमेरिका हर साल अधिकतम 65,000 एच-1बी वीजा और अमेरिकी उन्नत डिग्री छूट श्रेणियों के तहत अतिरिक्त 20,000 एच-1बी वीजा जारी कर सकता है। यूएससीआईएस ने बताया कि इस बार एच-1बी वीजा को लेकर काफी संख्या में आवेदन मिले हैं। इसके साथ ही उच्च डिग्री वाले व्यक्तियों के लिए छूट के तहत 20,000 एच-1बी वीजा के लिए भी तय आवेदन मिल गए हैं। पंजीकरण कराने वाले जिन आवेदकों का चयन नहीं किया गया है, उन्हें ऑनलाइन इसकी सूचना दी गई है।