आज भारत पाकिस्तान के एक उकसावे पर तेजी से देगा जवाब: अमेरिकी खुफिया विभाग

ODNI ने कहा कि साल 2020 के बाद से नई दिल्ली और बीजिंग के बीच बिगड़े संबंध लंबे वक्त तक तनावपूर्ण बने रहने के आसार हैं। ऐसा दशकों में पहली बार देखने को मिला है। गलवान घाटी में हुए गतिरोध से यह साबित होता है कि एलओसी यानी लाइन आफ एक्चुअल कंट्रोल पर निम्न स्तर का घर्षण भी बढ़ा रूप ले सकता है।

आज भारत पाकिस्तान के एक उकसावे पर तेजी से देगा जवाब: अमेरिकी खुफिया विभाग

अमेरिकी खुफिया विभाग ने भारत के मौजूदा हालात पर टिप्पणी करते हुए अमेरिकी कांग्रेस को बताया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के तहत भारत पाकिस्तान के किसी भी वास्तविक या कथित उकसावे का सैन्य बल के साथ पहले की तुलना में अधिक जल्दी जवाब दे सकता है। यानी अगर पाकिस्तान भारत को किसी मसले में उकसाए तो भारत सोच विचार में वक्त जाया नहीं करेगा बल्कि हमला कर देगा।

15 जून 2020 को गलवान घाटी में एक घातक झड़प के बाद तनाव बढ़ गया है।

अमेरिका के आफिस आफ डायरेक्टर आफ नेशनल इंटेलिजेंस (ODNI) द्वारा जारी यूएस इंटेलिजेंस कम्युनिटी की वार्षिक रिपोर्ट में यह भी आकलन किया गया है कि दो परमाणु शक्ति भारत और चीन द्वारा विवादित सीमा पर सैन्य क्षमता को बढ़ाना भी सशस्त्र टकराव के जोखिम को बढ़ाता है। इससे अमेरिका को भी सीधे तौर पर नुकसान है और अमेरिकी को हस्तक्षेप करने की जरूरत है।