UK की इस कंपनी ने भारतीय प्रवासी निर्यातकों को सस्ता पैमेंट गेटवे देने की घोषणा की

विनवेस्टा ने बताया कि बहु-मुद्रा बैंकिंग सुविधा में 499 रुपये का एकमुश्त खर्चा होगा। इसके अलावा कोई मासिक शुल्क नहीं है। खातों में पैसा जमा करने या किसी भारतीय बैंक से पैसे निकालने के लिए भी कोई शुल्क नहीं है। कंपनी को 180 से अधिक देशों के पैमेंट कलेक्शन का समर्थन मिला हुआ है।

UK की इस कंपनी ने भारतीय प्रवासी निर्यातकों को सस्ता पैमेंट गेटवे देने की घोषणा की
CEO of Winvesta, Swastik Nigam. [Source: LinkedIn]

भारतीय निवेशकों के लिए एक वैश्विक निवेश मंच देने वाले विनवेस्टा ने पहले से मौजूद बहु-मुद्रा बैंकिंग सुविधा के विस्तार की घोषणा की है। कंपनी का दावा है कि इसके जरिए भारतीय निर्यातकों को निर्यात लागत में 8 फीसदी तक कम करने में मदद मिलेगी।

Most traded stocks on Winvesta between Jan-Mar 2022 as of closing on March 31, 2022. [Source: Winvesta]

इस कंपनी का मुख्यालय ब्रिटेन में ही है। विनवेस्टा के संस्थापक और सीईओ स्वास्तिक निगम ने कहा कि कंपनी बिजनेस क्लास के लिए विदेशी संग्रह खाते लॉन्च करने के लिए उत्साहित है। निगम ने एक भारतीय समाचार पत्र को बताया कि कई भारतीय व्यवसायों को एक अधूरी डील हासिल होती है। कुछ ज्यादातर महंगी साबित होती हैं तो कुछ विलंबित और अपारदर्शी होती हैं। अधूरी डील के चलते उस पैसे का अधिकांश हिस्सा कभी भी भारतीय तटों पर नहीं पहुंचता है। लेकिन इस लॉन्च के साथ हम इसमें बदलाव कर सकेंगे।

कंपनी ने दावा किया कि भारत का सीमा पार प्रवाह सालाना 800 अरब अमेरिकी डॉलर से अधिक है और कंपनी सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (MSMEs) को विदेशों में प्रवासी की कमाई से अधिकतम मुनाफा कमाकर देना चाहते हैं। विनवेस्टा ने बताया कि बहु-मुद्रा बैंकिंग सुविधा में 499 रुपये का एकमुश्त खर्चा होगा। इसके अलावा कोई मासिक शुल्क नहीं है। खातों में पैसा जमा करने या किसी भारतीय बैंक से पैसे निकालने के लिए भी कोई शुल्क नहीं है।

निवेशित विदेशी निधियों यानी इन्वेस्टिड फॉरेन फंड को भारतीय रुपये में परिवर्तित किया जाता है और उसी दिन उनके भारतीय बैंक खातों में जमा किया जाता है। कंपनी को 180 से अधिक देशों के पैमेंट कलेक्शन का समर्थन मिला हुआ है। विनवेस्टा के अध्यक्ष प्रतीक जैन ने कहा कि विनवेस्टा का मिशन सभी के लिए सीमा पार वित्त को आसान बनाना है। भारत के साथ एक वित्तीय वर्ष में पहली बार निर्यात में 400 बिलियन अमरीकी डालर का उछाल आया है।

क्रॉस-बॉर्डर डेटा फ्लो की अटलांटिक काउंसिल की रिपोर्ट के अनुसार भारत को स्थानांतरण में कई चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। जानकारी के लिए आपको बता दें कि ड्यूश बैंक के पूर्व दिग्गज स्वास्तिक निगम और प्रतीक जैन ने विनवेस्टा कंपनी को नवंबर 2021 में अपने पहले भारतीय निवेश मंच के रूप में लॉन्च किया था।