यूक्रेन और रूस, भारतीय छात्रों को तो दोनों पसंद हैं: भारत

आंकड़ों से पता चलता है कि साल 2021 में विदेश जाने वाले छात्रों में से 18,596 यूक्रेन गए थे। दूसरी ओर यूक्रेन से संघर्ष कर रहा रूस भी हजारों की संख्या में भारतीय छात्रों को आकर्षित करता है। अकेले साल 2021 में कुल 15,814 भारतीय छात्रों ने रूसी कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में प्रवेश लिया था।

यूक्रेन और रूस, भारतीय छात्रों को तो दोनों पसंद हैं: भारत
Photo by Robina Weermeijer / Unsplash

उच्च शिक्षा की खोज में विदेश जाने वाले भारतीय छात्रों के लिए यूक्रेन के साथ-साथ रूस शीर्ष शिक्षा स्थलों में से एक रहा है। जहां दोनों देश आपस में संघर्ष कर रहे हैं वहीं भारतीय छात्रों के लिए तो दोनों ही देश उच्च शिक्षा के लिए आकर्षित करते हैं। दिलचस्प बात यह है कि सिर्फ यूक्रेन और रूस ही नहीं हजारों भारतीय छात्र किर्गिस्तान और कजाकिस्तान जैसे देशों में भी जाते हैं।

Nurse at Cathlab control room
किर्गिस्तान में भी इसी समय में 15,162 भारतीय छात्रों ने दाखिला लिया। ऐसे ही कजाकिस्तान में साल 2021 में 5,625 भारतीय छात्र पहुंचे। Photo by Irwan iwe / Unsplash

भारत में संसद सत्र शुरु हुआ है। ऐसे में भारत की प्रमुख राजनीतिक पार्टी भाजपा के सांसद हरीश द्विवेदी के एक सवाल के जवाब में केंद्रीय शिक्षा राज्यमंत्री सुभाष सरकार ने लोकसभा में डेटा साझा किया और बताया कि आंकड़ों के अनुसार कोविड की आशंकाओं के बावजूद 4,45,498 भारतीय छात्रों ने साल 2021 में विदेशों में स्थित शैक्षणिक संस्थानों में प्रवेश लिया। यह आंकड़ा साल 2020 की तुलना में ज्यादा है। हालांकि साल 2019 से कम है।