यूक्रेन से लौटे मेडिकल स्टूडेंट्स ने भुवनेश्वर में प्रदर्शन करके ये बड़ी मांग रख दी

इस साल अप्रैल के महीने में दिल्ली के जंतर मंतर पर कुछ छात्रों और उनके माता-पिता ने प्रदर्शन कर इन छात्रों को भारत में एडमिशन देने की मांग की थी। उनका कहना था कि मोदी सरकार ने जैसे उनके बच्चों की जान बचाई, उसी तरह उनका करियर भी बचाएं।

यूक्रेन से लौटे मेडिकल स्टूडेंट्स ने भुवनेश्वर में प्रदर्शन करके ये बड़ी मांग रख दी

यूक्रेन और रूस के युद्ध से जहां पूरी दुनिया प्रभावित है वहीं भारत के कई मेडिकल स्टूडेंट्स का भविष्य भी अधर में लटक गया है। भारत से भारी संख्या में स्टूडेंट्स मेडिकल की पढ़ाई के लिए यूक्रेन का रुख करते थे। युद्ध की वजह से उन्हें अपनी पढ़ाई को बीच में ही छोड़ कर भारत आना पड़ा है। अब वो भारत सरकार से अपने भविष्य को बचाने की गुहार लगा रहे हैं।

Nurse at Cathlab control room
यूक्रेन से लौटे छात्र लगातार भारतीय मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन की मांग कर रहे हैं। Photo by Irwan iwe / Unsplash

भारत के ओडिशा राज्य की राजधानी भुवनेश्वर में यूक्रेन से लौटे मेडिकल स्टूडेंट्स ने प्रदर्शन किया। उन्होंने भारतीय मेडिकल विश्वविद्यालयों में एडमिशन की मांग की। एक प्रदर्शनकारी छात्र ने कहा कि हम सिर्फ सरकारी या प्राइवेट भारतीय विश्वविद्यालयों में एडमिशन चाहते हैं। हमारा भविष्य खतरे में पड़ गया है। हम युद्धग्रस्त देश यूक्रेन वापस नहीं जा सकते हैं।