रूस में भारतीय मूल के प्रतिनियुक्त ने कहा, पुतिन सही, परमाणु हमले की योजना नहीं

भारतीय मूल के प्रतिनियुक्त नेे कहा कि परमाणु हथियारों के बारे में चिंता करने की कोई बात नहीं है। राष्ट्रपति पुतिन ने घोषणा की है कि अगर कोई दूसरा देश रूस पर हमला करता है तो जवाब देने के लिए ही परमाणु अभ्यास किया जा रहा है।

रूस में भारतीय मूल के प्रतिनियुक्त ने कहा, पुतिन सही, परमाणु हमले की योजना नहीं

यूक्रेन पर रूस के व्यापक हमलों की निंदा के बीच पश्चिमी रूसी शहर कुर्स्क से भारतीय मूल के प्रतिनियुक्त (भारत में विधायक के बराबर) और रूसी राष्‍ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की संयुक्त रूस पार्टी के सदस्य डॉ. अभय कुमार सिंह ने यूक्रेन में रूसी सेना की कार्रवाई को लेकर पुतिन का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि यूक्रेन को वार्ता के लिए पर्याप्त जगह दी गई थी, जिसमें विफल रहने पर यूक्रेन के खिलाफ युद्ध का निर्णय लिया गया था। उन्होंने कहा कि नाटो रूस के खिलाफ बनाया गया था और साल 1991 में सोवियत संघ के विघटन के बावजूद यह नहीं टूटा। उन्होंने आगे कहा कि अगर यूक्रेन नाटो में शामिल हो जाता है तो यह नाटो को रूस के करीब लाएगा क्योंकि यूक्रेन उसका पड़ोसी मुल्क है।

हालांकि पुतिन की पार्टी के भारतीय मूल के सदस्य ने रूस के यूक्रेन पर परमाणु हमले की योजना बनाने के दावों को खारिज कर दिया।

डॉ. सिंह ने मीडिया को बताया कि अगर चीन बांग्लादेश में अपना सैन्य अड्डा स्थापित करता है तो भारत की क्या प्रतिक्रिया होगी? जाहिर सी बात है भारत को यह पसंद नहीं आएगा। नाटो रूस के खिलाफ बना था और सोवियत संघ के टूटने के बावजूद यह विघटित नहीं हुआ और यह धीरे-धीरे हमारे करीब आता गया। उन्होंने आगे कहा कि अगर यूक्रेन नाटो में शामिल हो जाता है तो यह नाटो को हमारे करीब लाएगा क्योंकि यूक्रेन हमारा पड़ोसी देश है और यह समझौते का उल्लंघन होगा। हमारे राष्ट्रपति और संसद के पास कार्रवाई करने के अलावा कोई विकल्प नहीं था और इसलिए यूक्रेन पर हमला करने का फैसला लिया गया।