कोरोना महामारी के खौफ से निकल रहा ब्रिटेन, अंतरराष्ट्रीय यात्राओं में और दी ढील

ब्रिटेन के परिवहन मंत्री ग्रांट शेप्स ने बताया कि शुक्रवार को सुबह चार बजे से ब्रिटेन में आने के लिए यात्रा ब्योरा देने की जरूरत या फिर पीसीआर टेस्ट करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। अगर यात्री को टीका नहीं भी लगा है तो भी यह शर्ते लागू नहीं होंगी।

कोरोना महामारी के खौफ से निकल रहा ब्रिटेन, अंतरराष्ट्रीय यात्राओं में और दी ढील
Photo by Nick Fewings / Unsplash

एक तरफ चीन में कोरोना संक्रमण और अधिक बढ़ने के कारण यात्रा प्रतिबंधों को और कड़ा किया जा रहा है। वहीं ब्रिटेन धीरे-धीरे तमाम तरह की बंदिशों को खत्म कर रहा है। ब्रिटेन अब महामारी से बाहर निकलने की ओर बढ़ रहा है। ब्रिटेन की सरकार ने कोविड-19 से जुड़े प्रतिबंधों को हटाने के तहत शुक्रवार से अंतरराष्ट्रीय यात्राओं पर रोक हटाने का फैसला किया है। इन यात्राओं के लिए अब यात्रियों को पैसेंजर विवरण फॉर्म भी नहीं भरना होगा।

अप्रैल में ईस्टर की छुट्टी ब्रिटेन में काफी लोकप्रिय है। इन प्रतिबंधों में छूट से परिवारों को यात्रा की योजना बनाने में मदद मिलेगी। Photo by Bing Hui Yau / Unsplash

ब्रिटेन के परिवहन मंत्री ग्रांट शेप्स ने बताया कि शुक्रवार को सुबह चार बजे से ब्रिटेन में आने के लिए यात्रा ब्योरा देने की जरूरत या फिर पीसीआर टेस्ट करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। अगर यात्री को टीका नहीं भी लगा है तो भी यह शर्ते लागू नहीं होंगी। उन्होंने बताया कि ब्रिटेन अब कोरोना प्रोटोकाल से जुड़े बाकी सभी प्रतिबंधों और शर्तों को पूरी तरह से हटाने जा रहा है। यह प्रतिबंध टीकाकरण अभियान और एक-दूसरे को सुरक्षित रखने की मुहिम में बहुत कारगर साबित हुए थे। उन्होंने कहा कि ईस्टर की छुट्टियों से पहले सभी यात्री बेधड़क कहीं भी यात्रा कर सकेंगे। जब तक बहुत जरूरी न हो जाए यात्रा प्रतिबंध नहीं लगाए जाएंगे।