ब्रिटेन की पहल: भारत से व्यापार के बदले वीजा में छूट देने की योजना

युवा भारतीयों को तीन साल तक रहने और काम करने का अधिकार। काम और पर्यटन के लिए वीजा शुल्क को भी कम करने की योजना है जिसकी कीमत 1,400 पाउंड यानी 1 लाख 40 हजार रुपये तक है।

ब्रिटेन की पहल: भारत से व्यापार के बदले वीजा में छूट देने की योजना

भारतीयों के लिए ब्रिटेन प्रशासन आव्रजन प्रतिबंधों में ढील देने की तैयारी में है। ब्रिटेन और भारत के बीच इस महीने व्यापार वार्ता होने जा रही है, जिसमें भारतीय नागरिकों के लिए देश में रहने और काम करने से जुड़े नियमों को आसान बनाने का मुद्दा भी शामिल होगा। अंग्रेजी अखबार द गार्जियन के अनुसार ब्रिटेन के अंतर्राष्ट्रीय व्यापार सचिव ऐनी मैरी ट्रेवेलियन आगामी व्यापार वार्ता के हिस्से के रूप में हजारों भारतीय नागरिकों के लिए आव्रजन प्रतिबंधों को कम करने के इच्छुक हैं। इस महीने वह भारत आएंगी और इस प्रस्ताव पर चर्चा करेंगी।

भारतीय नागरिकों के लिए आव्रजन नियमों में ढील देना भारत सरकार की एक प्रमुख मांग रही है। कहा जाता है कि ट्रेवेलियन को विदेश सचिव लिज ट्रस का समर्थन प्राप्त है जो इस क्षेत्र में चीन के बढ़ते प्रभाव को रोकने के इच्छुक हैं। हालांकि सचिव प्रीति पटेल इसका विरोध करती आई हैं। ऐसे में उनके कड़े प्रतिरोध का सामना ट्रे​वेलियन को करना पड़ सकता है।