जयभीम: लंदन काउंसिल में पहली बार दलित समुदाय की महिला बनी मेयर

मिधा पहले काउंसिल के डिप्टी मेयर के रूप में काम कर रही थीं। मिधा को परिषद की बैठक में अगले साल यानी 2022-23 के कार्यकाल के लिए मेयर चुना गया है। फेडरेशन ऑफ अंबेडकराइट एंड बौद्ध ऑर्गनाइजेशन (FABO) के अध्यक्ष संतोष दास ने इसे गर्व का पल बताया है।

जयभीम: लंदन काउंसिल में पहली बार दलित समुदाय की महिला बनी मेयर

ब्रिटेन में विपक्षी दल लेबर पार्टी की एक भारतीय मूल की राजनेता और पार्षद मोहिंदर के मिधा को पश्चिम लंदन में ईलिंग काउंसिल के मेयर के रूप में चुना गया है। मोहिंदर ​के मिधा लंदन परिषद की पहली ऐसी महिला मेयर बनी हैं जो दलित समुदाय से जुड़ी हैं।

मिधा को परिषद की बैठक में अगले साल यानी 2022-23 के कार्यकाल के लिए चुना गया है। ईलिंग काउंसिल में लेबर पार्टी ने एक बयान में कहा कि हमें बहुत गर्व है कि क्लर्क मोहिंदर मिधा को अगले साल के लिए ईलिंग काउंसिल का मेयर चुना गया है। ब्रिटिश दलित समुदाय इस चुनाव को गर्व के क्षण के रूप में मना रहा है।

मिधा ने स्थानीय लेबर पार्टी के घोषणापत्र के जरिए प्रचार किया था।

वहीं फेडरेशन ऑफ अंबेडकराइट एंड बौद्ध ऑर्गनाइजेशन (FABO) यूके के अध्यक्ष संतोष दास ने कहा कि ब्रिटेन में पहली बार किसी दलित महिला को मेयर बनाया गया है। यह हमारे लिए गर्व का पल है। एफएबीओ ब्रिटेन में दलितों के अधिकारों का प्रतिनिधत्व करने वाला एक समूह है।

बता दें कि 5 मई को लंदन में स्थानीय चुनावों में ईलिंग काउंसिल में डॉर्मर्स वेल्स वार्ड के लिए लेबर काउंसलर के रूप में मिधा दोबारा चुनी गई हैं। मिधा पहले काउंसिल के डिप्टी मेयर के रूप में काम कर रही थीं। मिधा ने स्थानीय लेबर पार्टी के घोषणापत्र के जरिए प्रचार किया था कि उनका लक्ष्य जीवन यापन के लिए लगने वाली लागत को कम करना, महामारी से उभरने में मदद करना, हिंसक अपराध और असामाजिक व्यवहार से लड़ना, सामाजिक समस्याओं को ठीक करना और अधिक वास्तविक रूप से किफायती घरों को वितरित करना है।