IPL के ग्लोबल मीडिया राइट्स पर ब्रिटेन और अफ्रीकी कंपनी की भी नजर

फिलहाल स्टार के पास मीडिया राइट्स हैं जो इस सीजन के बाद समाप्त हो जाएंगे। इस निलामी में हिस्सा लेने के लिए कई भारतीय कंपनियां भी दिलचस्पी ले रही हैं जिनमें वायकॉम-18, जी एंटरटेनमेंट, सोनी और ड्रीम11 भी हैं।

IPL के ग्लोबल मीडिया राइट्स पर ब्रिटेन और अफ्रीकी कंपनी की भी नजर

भारत के लोकप्रिय आईपीएल (टी-20 क्रिकेट मैच चैंपियनशिप) के ग्लोबल मीडिया राइट्स हासिल करने के लिए ब्रिटेन के स्काई स्पोर्ट्स और दक्षिण अफ्रीका की सुपरस्पोर्ट में रुचि दिखाई दे रही हैं। दोनों ही कंपनियां चाहती हैं कि वे आईपीएल के वैश्विक प्रसारण के लिए पांच वर्ष के ग्लोबल मीडिया राइट्स को हासिल कर लें। खबर है कि दोनों कंपनियों ने कथित तौर पर इसकी बोली के दस्तावेज भी ले लिए हैं।

हालांकि अभी तक कोई आधिकारिक बोली नहीं लगाई गई है। बता दें कि बोली दस्तावेजों को खरीदने की अंतिम तिथि 10 मई है। यदि सौदा सफल होता है तो भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को लगभग 50,000 करोड़ रुपये हासिल होंगे। बता दें​ कि इस सीजन के बाद ग्लोबल मीडिया राइट्स की ई-नीलामी होगी।

फिलहाल स्टार के पास मीडिया राइट्स हैं जो इस सीजन के बाद समाप्त हो जाएंगे। इस नीलामी में हिस्सा लेने के लिए कई भारतीय कंपनियां भी दिलचस्पी ले रही हैं जिनमें वायकॉम-18, जी एंटरटेनमेंट, सोनी और ड्रीम11 भी हैं। बीसीसीआई ने मीडिया राइट्स को चार अलग-अलग भूमिकाओं में वर्गीकृत किया गया है जिनमें डिजिटल राइट्स, भारतीय उपमहाद्वीप के लिए टीवी राइट्स, 18 गैम्स जिनमें ओपनिंग मैच, वीकैंड के मैच, 4 प्लेऑफ मैच होंगे। इसके अलावा बाकी विश्व के लिए ग्लोबल राइट्स हैं।

टाटा समूह मौजूदा सत्र के लिए आईपीएल का शीर्षक प्रायोजक है। Photo : IPL

पिछले साल के विपरीत अंतरराष्ट्रीय कंपनियों के लिए समग्र बोलियों की अनुमति इस बार नहीं दी जाएगी लेकिन ग्लोबल राइट्स के लिए बोली लगाने की संभावनाएं हैं। लगभग 33,000 करोड़ के आधार मूल्य से शुरू होने वाली यह बोली निश्चित रूप से अच्छे स्तर पर जाएगी।

बता दें कि इस बार बीसीसीआई ने महिलाओं के टी20 चैलेंज 2022 के टाइटल स्पॉन्सरशिप राइट्स के लिए अलग से रिक्वेस्ट फॉर कोटेशन (RFQ) दिया था। इसमें निविदा प्रक्रिया को नियंत्रित करने वाले विस्तृत नियम और शर्तें शामिल किए गए थे, जिसमें उद्धरण, अधिकार और दायित्वों को प्रस्तुत करने की प्रक्रिया भी थी। बीसीसीआई ने RFQ के लिए जीएसटी छोड़कर एक लाख रुपये कीमत रखी थी जोकि नॉन रिफंडेबल यानी वापस नहीं दी जाती। महिलाओं के टी20 चैंलेंज 2022 के टाइटल स्पॉन्सरशिप के लिए जारी किए गए RFQ को खरीदने की अंतिम तारीख 4 मई थी।