भारत यात्रा पर जाएगा UAE का प्रतिनिधिमंडल, कारोबार और निवेश बढ़ाने पर होगी बातचीत

11 से 15 मई तक चलने वाली यह यात्रा दोनों देशों के लिए खासी महत्वपूर्ण है क्योंकि दोनों ही देशों ने एक मई को व्यापक आर्थिक भागीदारी समझौता (CEPA) लागू किया था। यह प्रतिनिधिमंडल दिल्ली व मुंबई का दौरा करेगा और कारोबारी नेताओं के साथ विचार-विमर्श करेगा।

भारत यात्रा पर जाएगा UAE का प्रतिनिधिमंडल, कारोबार और निवेश बढ़ाने पर होगी बातचीत
www.diplomacybeyond.com

संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के अर्थव्यवस्था मंत्री अब्दुल्ला बिन तौक अल मारी के नेतृत्व में एक उच्चस्तरीय कारोबारी प्रतिनिधिमंडल इस सप्ताह भारत की यात्रा पर जाने वाला है। इस दौरान दोनों देशों के बीच कारोबार और निवेश को और बढ़ाने के लिए तरीकों पर चर्चा की जाएगी और इसके लिए नए रास्ते तलाशे जाएंगे।

11 से 15 मई तक चलने वाली यह यात्रा दोनों देशों के लिए खासी महत्वपूर्ण है क्योंकि दोनों ही देशों ने एक मई को व्यापक आर्थिक भागीदारी समझौता (CEPA) लागू किया था। इस समझौते का उद्देश्य अगले पांच सालों में द्विपक्षीय कारोबार को 100 अरब डॉलर तक पहुंचाने का है जो वर्तमान में 60 अरब डॉलर का है।

प्रतिनिधिमंडल में यूएई के छोटे व मध्यम उद्योगों के मंत्री भी शामिल हैं। एक अधिकारी ने बताया कि यूएई का प्रतिनिधिमंडल दोनों देशों के बीच व्यापार और निवेश बढ़ाने की संभावनाएं तलाशेगा। यह प्रतिनिधिमंडल दिल्ली व मुंबई का दौरा करेगा और कारोबारी नेताओं के साथ विचार-विमर्श करेगा।

यूएई भारत के सबसे बड़े कारोबारी भागीदारों में से एक है और इसे भारत के लिए पश्चिम एशिया, उत्तरी अफ्रीका, मध्य एशिया और उप-सहारा अफ्रीका का 'गेटवे' माना जाता है। सीईपीए समझौते के तहत कपड़ा, कृषि, ड्राई फ्रूट्स, रत्न एवं आभूषण क्षेत्र के घरेलू निर्यातकों को यूएई के बाजार में शुल्क मुक्त पहुंच उपलब्ध हुई है।