रमजान: ‘एक अरब भोजन’ के लिए तीन भारतीयों ने दिया 2 करोड़ का दान

रमजान के पहले दिन से शुरू हुई ‘एक अरब भोजन’ पहल का आयोजन दुबई के उपराष्ट्रपति और शासक शेख मोहम्मद बिन राशिद द्वारा किया गया है। अभियान के तहत 50 देशों में जरूरतमंद लोगों को एक अरब भोजन उपलब्ध कराने का संकल्प लिया गया है।

रमजान: ‘एक अरब भोजन’ के लिए तीन भारतीयों ने दिया 2 करोड़ का दान
लुलु ग्रुप इंटरनेशनल के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक एम ए यूसुफ अली।

संयुक्त अरब अमीरात (UAE) स्थित भारतीय व्यवसायी डॉ. शमशीर, डॉ. आजाद और एमए यूसुफ अली ने ‘1 अरब भोजन’ पहल के लिए 2 करोड़ रुपये दान देने की घोषणा की है। डॉ. शमशीर वीपीएस हेल्थकेयर ग्रुप के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक हैं। डॉ. आजाद एस्टर डीएम हेल्थकेयर के संस्थापक अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक हैं। यूसुफ अली लुलु ग्रुप इंटरनेशनल के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक हैं। तीनों भारतीय कारोबारी का यह योगदान जरूरतमंदों की मदद करने और मानवता की भावना से प्रेरित है।

रमजान के पहले दिन से शुरू हुई ‘एक अरब भोजन’ पहल का आयोजन दुबई के उपराष्ट्रपति और शासक शेख मोहम्मद बिन राशिद द्वारा किया गया है। अभियान के तहत 50 देशों में जरूरतमंद लोगों को एक अरब भोजन उपलब्ध कराने का संकल्प लिया गया है।

एस्टर डीएम हेल्थकेयर के संस्थापक डॉ. आजाद।

इस अभियान की शुरुआत पिछले साल की गई थी। अभियान का उद्देश्य संयुक्त राष्ट्र के सतत विकास कार्यक्रम (2030 तक भूख को समाप्त करना) को समर्थन करते हुए 50 देशों में कमजोर समुदायों के लिए खाद्य सहायता मुहैया कराना है। अभियान के पहले हफ्ते में ही करीब सात करोड़ भोजन उपलब्ध कराने के लिए पर्याप्त दान मिल चुका है। यह तब तक जारी रहेगा जब तक कि एक अरब भोजन के लिए पर्याप्त धन जुटाने का लक्ष्य हासिल नहीं कर लिया जाता।