इस राज्य की डेमोक्रेटिक प्राइमरी में 2 भारतीय-अमेरिकी नबीला व केविन जीते

नबीला सैयद ने चेल्सी लैलिबर्ट बार्न्स को उल्लेखनीय अंतर से हराया। गिने गए 95 फीसदी वोटों में सैयद को 72.32 फीसदी (6624 वोट) मिले जबकि बार्न्स के खाते में केवल 27.7 फीसदी (2541 वोट) आए। अब उनका सामना रिपब्लिकन क्रिस बॉस से होगा।

इस राज्य की डेमोक्रेटिक प्राइमरी में 2 भारतीय-अमेरिकी नबीला व केविन  जीते

इलिनॉइस राज्य विधायिका में शामिल होने वाले पहले दक्षिण एशियाई अमेरिकी बनने के लिए दो युवा भारतीय-अमेरिकी एक कदम और आगे बढ़ गए हैं। 23 वर्षीय नबीला सैयद ने 51वें जिले के लिए डेमोक्रेटिक प्राइमरी चुनाव में जीत दर्ज की है। वहीं 29 वर्षीय केविन ओलिक्कल को 16वें जिले से विजेता घोषित किया गया है। उधर, सांसद राजा कृष्णमूर्ति भी डेमोक्रेटिक प्राइमरी जीत गए हैं।

ओलिक्कल और स्टोनबैक के बीच दो साल पहले भी चुनावी मुकाबला हुआ था। तब दोनों पूर्व स्टेट रिप्रेजेंटेटिव मार्क कैलिस के खिलाफ चुनाव लड़ रहे थे। 

नबीला सैयद ने चेल्सी लैलिबर्ट बार्न्स को उल्लेखनीय अंतर से हराया। गिने गए 95 फीसदी वोटों में सैयद को 72.32 फीसदी (6624 वोट) मिले जबकि बार्न्स के खाते में केवल 27.7 फीसदी (2541 वोट) आए। अब उनका सामना रिपब्लिकन क्रिस बॉस से होगा। 51वें जिले में पैलेटाइन, इंवर्नेस, लेक ज्यूरिख, हॉथोर्न वुड्स, किलडियर और लॉन्ग ग्रोव के हिस्से आते हैं।

दूसरी ओर एक प्रोग्रेसिव डेमोक्रेट ओलिक्कल ने डेनिस वांग स्टोनबैक को मात दी। हालांकि दोनों के बीच मुकाबला टक्कर का रहा। ओलिक्कल को 4555 वोट (52.7 फीसदी) और स्टोनबैक को 4090 (47.3 फीसदी) वोट मिले। 16वें जिले में स्कोकी, लिंकन वुड, मोर्टन ग्रोव के हिस्से या पूरे और शिकागो के 40वें और 50वें वार्ड आते हैं। ओलिक्कल ने अपने सोशल मीडिया हैंडल्स के जरिए अपनी जीत की जानकारी साझा की।

ओलिक्कल और स्टोनबैक के बीच दो साल पहले भी चुनावी मुकाबला हुआ था। तब दोनों पूर्व स्टेट रिप्रेजेंटेटिव मार्क कैलिस के खिलाफ चुनाव लड़ रहे थे। उस समय ओलिक्कल को स्टोनबैक के हाथों 3000 वोट से अधिक के अंतर से हार का सामना करना पड़ रहा था। ओलिक्कल के माता-पिता 1980 के दशक में भारत से अमेरिका आए थे। यहां स्कोकी में वह पले बढ़े थे। वर्तमान में वह लोयोला यूनिवर्सिटी शिकागो स्कूल ऑफ लॉ स्कूल में अपनी ज्यूरिस डॉक्टरेट को लेकर पार्ट टाइम काम कर रहे हैं।

इससे पहले वह छोटे कारोबारों और गैर लाभकारी संगठनों को राहत पहुंचाने वाले 'द नेशनल पार्टनरशिप फॉर न्यू अमेरिकंस' के साथ एक कुक काउंटी रिकवरी स्पेशलिस्ट के तौर पर सेवाएं दे रहे थे। दूसरी ओर नबीला ने अपनी वेबसाइट पर वादा किया है कि मैं अपने क्षेत्र के लिए सबसे जरूरी मुद्दों के लिए काम करूंगी। इनमें हेल्थकेयर, एजुकेशन, टैक्स और समान अधिकार भी शामिल हैं। उन्होंने कहा है कि मैं यहां के नागरिकों के लिए आज और कल को ध्यान में रखते हुए मजबूत अर्थव्यवस्था, बेहतर इन्फ्रास्ट्रक्चर और सस्ते हेल्थकेयर व उच्च शिक्षा के साथ एक बेहतर इलिनॉइस बनाने के लिए काम करूंगी।