भारत की गलियों में खेलते थे क्रिकेट, अब ऑस्ट्रेलिया के लिए दिखाएंगे जलवा

ऑस्ट्रेलिया की अंडर-19 टीम में शामिल 17 साल के ऑफ स्पिनर हरकीरत सिंह बाजवा का जन्म मोहाली में हुआ था। हरकीरत जब महज 7 साल के थे मोहाली की गलियों में क्रिकेट खेलते थे। वहीं, राधाकृष्णन ऑस्ट्रेलिया की अंडर-16 टीम की ओर से पाकिस्तान के खिलाफ साल 2019 में 5 मैचों की सीरीज भी खेल चुके हैं।

भारत की गलियों में खेलते थे क्रिकेट, अब ऑस्ट्रेलिया के लिए दिखाएंगे जलवा

आईसीसी अंडर-19 क्रिकेट वर्ल्ड कप 2022 के लिए ऑस्ट्रेलिया ने अपनी टीम का ऐलान कर दिया है। अगले साल जनवरी में वेस्टइंडीज में होने वाले वर्ल्ड कप के इस महाकुंभ में ऑस्ट्रेलिया की टीम में भारतीय मूल के मोहाली में जन्मे हरकीरत सिंह बाजवा के अलावा तमिलनाडु में जन्मे निवेथन राधाकृष्णन को भी शामिल किया गया है। दोनों ही स्पिनर गेंदबाज हैं। बता दें कि हरकीरत और राधाकृष्णन से पहले तनवीर संघा, गुरिंदर संधू अंडर-19 क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन कर ऑस्ट्रेलिया के लिए खेल चुके हैं।

ऑस्ट्रेलिया की अंडर-19 टीम में शामिल 17 साल के ऑफ स्पिनर हरकीरत सिंह बाजवा का जन्म मोहाली में हुआ था। हरकीरत जब महज 7 साल के थे मोहाली की गलियों में क्रिकेट खेलते थे। इसके बाद उनका परिवार मेलबर्न शिफ्ट हो गया। इसके बाद हरकीरत ने चेल्सी क्रिकेट क्लब जॉइन कर लिया और वहीं से उनका पूरा खेल बदल गया।  मेलबर्न में क्रिकेट का ककहरा सीखते हुए उन्हें अंडर-16 खेलने का मौका भी मिला। आपको जानकार आश्चर्य होगा कि हरकीरत बहुत ही सामान्य परिवार से ताल्लुक रखते हैं। उनके पिता बलजीत सिंह मेलबर्न में टैक्सी चलाकर परिवार का पेट पालते हैं। लेकिन उनका बेटा एक बेहतरीन क्रिकेटर है जिसने बेहद ही कम उम्र में पूरे ऑस्ट्रेलिया में अपना नाम बना लिया है।