पैरालंपिकः कृष्णा, सुहास ने जीते पदक, भारत ने रिकार्ड 19 पदक जीत इतिहास रचा

नोएडा के डीएम सुहास एलवाई पैरालंपिक में पदक जीतने वाले पहले आईएएस अधिकारी बने। सिल्वर जीतने के बाद उन्होंने कहा, 'मैं बहुत खुश हूं कि मैंने टोक्यो में पैरालंपिक खेलों में भारत के लिए सिल्वर मेडल जीता। अभी कुछ देर पहले पीएम मोदी ने फोन कर मुझे बधाई दी।

पैरालंपिकः कृष्णा, सुहास ने जीते पदक, भारत ने रिकार्ड 19 पदक जीत इतिहास रचा

टोक्यो पैरालंपिक में भारत के कुल पदकों की संख्या 19 हो गई है जो उसका अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। भारत ने पांच स्वर्ण, आठ रजत और छह कांस्य पदक जीते हैं। भारतीय खिलाड़ियों ने इतिहास रचते हुए काफी बेहतरीन प्रदर्शन किया। खेल के आखिरी दिन रविवार को भी भारतीय खिलाड़ियों ने दो पदक हासिल किए और इस तरह भारत के खाते में रिकार्ड 19 पदक हुए। इससे पहले 2016 के रियो पैरालंपिक में भारत के खाते में चार पदक आए थे।

कृष्णा नागर ने इतिहास रचते हुए देश को पांचवां स्वर्ण पदक दिलाया।

भारत के कृष्णा नागर ने इतिहास रचते हुए देश को पांचवां स्वर्ण पदक दिलाया। कृष्णा नागर ने पैरालंपिक के आखिरी दिन रविवार को बैडमिंटन की पुरुष एकल (एसएच-6) स्पर्धा के फाइनल में हांगकांग के चू मन काई को हराकर गोल्ड जीता। इससे पहले टोक्यो पैरालंपिक्स में रविवार को नोएडा के डीएम सुहास एल यतिराज ने रजत पदक अपने नाम किया।