टोक्यो पैरालंपिकः भारत की झोली में आए 3 पदक, भाविना व निषाद ने जीता रजत पदक

भाविना पटेल एतिहासिक रजत पदक के साथ पैरालंपिक खेलों में पदक जीतने वाली दूसरी भारतीय महिला खिलाड़ी बनने में सफल रहीं।

टोक्यो पैरालंपिकः भारत की झोली में आए 3 पदक, भाविना व निषाद ने जीता रजत पदक

टोक्यो में जारी पैरालंपिक खेलों में रविवार का दिन भारत के लिए शुभ रहा। भारत की झोली में आज दो रजत और एक कांस्य यानी कुल मिलाकर तीन पदक आए। टेबल टेनिस में भाविनाबेन पटेल ने रजत पदक पर कब्जा जमाया, तो पुरुषों की ऊंची कूद में निषाद कुमार ने भारत को एक और रजत पदक दिला दिया। इसके बाद डिस्कस थ्रो में विनोद कुमार ने कांस्य पदक जीता।

भाविना पटेल गोल्ड मेडल से चूक गईं लेकिन भारत को मौजूदा पैरालंपिक खेलों का पहला पदक दिलाने में सफल रहीं।

भाविनाबेन पटेल को टेबल टेनिस क्लास 4 स्पर्धा के महिला एकल फाइनल में यहां दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी चीन की झाउ यिंग के खिलाफ 0-3 से शिकस्त का सामना करना पड़ा, लेकिन वह एतिहासिक रजत पदक के साथ पैरालंपिक खेलों में पदक जीतने वाली दूसरी भारतीय महिला खिलाड़ी बनने में सफल रहीं। भारतीय पैरालंपिक समिति (पीसीआई) की मौजूदा अध्यक्ष दीपा मलिक पांच साल पहले रियो पैरालंपिक में गोला फेंक में रजत पदक के साथ पैरालंपिक खेलों में पदक पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनी थीं।

रजत पदक पर कब्जा जमाने के बाद भाविना पटेल। 

चौंतीस साल की भाविनाबेन दो बार की स्वर्ण पदक विजेता झाउ के खिलाफ 19 मिनट में 7-11, 5-11, 6-11 से हार गई। हालांकि वह भारत को मौजूदा पैरालंपिक खेलों का पहला पदक दिलाने में सफल रहीं।