शिकागो एयरपोर्ट पर तीन महीने छिपकर रहा भारतीय, गिरफ्तार, अब रिहा

जानकारी के अनुसार आदित्य सिंह अपनी मास्टर डिग्री पूरी करने के लिए लगभग छह साल पहले अमेरिका आया था। वह भारत जाने के लिए 19 अक्तूबर 2020 को लॉस एंजेलिस से शिकागो जाने वाली उड़ान में सवार हुआ था।

शिकागो एयरपोर्ट पर तीन महीने छिपकर रहा भारतीय, गिरफ्तार, अब रिहा

एक 37 वर्षीय भारतीय नागरिक को इस साल जनवरी में शिकागो में गिरफ्तार किया गया था। इस व्यक्ति ने दुनिया के सबसे व्यस्त एयरपोर्ट में से एक शिकागो एयरपोर्ट के एक सुरक्षित इलाके में करीब तीन महीने छिपकर बिताए थे। अब उसे रिहा कर दिया गया है। इस पूरे घटनाक्रम की तुलना साल 2004 में आई प्रसिद्ध अभिनेता टॉम हैंक्स की फिल्म 'टर्मिनल' के साथ भी की जा रही है।

इस मामले में न्यायाधीश एड्रिएन डेविस ने बचाव पक्ष को कोई मौका दिए बिना ही फैसला सुनाया और आदित्य सिंह को बरी कर दिया। 

इस व्यक्ति का नाम आदित्य सिंह है और वह कोरोना वायरस महामारी के चलते विमान में सवार होने से डर रहा था। इसके चलते वह लगभग तीन महीने तक शिकागो के ओहेयर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर छिपकर रहा। आदित्य को 16 जनवरी को गिरफ्तार किया गया था। हालांकि एक कुक काउंटी न्यायाधीश ने आदित्य को दोषी नहीं पाया और बरी कर दिया।