तीन मिनट की वीडियो कॉल और 900 कर्मी बर्खास्त, घेरे में भारतीय-अमेरिकी सीईओ

इस तीन मिनट की कॉल में बर्खास्त हुए एक कर्मचारी ने वीडियो कॉल को इंटरनेट पर लीक कर दिया था। कई लोगों ने इस कदम को हर्टलेस यानी बेरहम होना करार दिया है। वैसे नौकरी से निकालने से पहले सीईओ गर्ग ने इस फैसले के लिए बाजार की कार्यक्षमता, प्रदर्शन और उत्पादकता का हवाला दिया था।

तीन मिनट की वीडियो कॉल और 900 कर्मी बर्खास्त, घेरे में भारतीय-अमेरिकी सीईओ
Photo by Matthew Osborn / Unsplash

अगर आप इस कॉल पर हैं तो आप उस अनलकी ग्रुप का हिस्सा हैं जिसे बंद किया जा रहा है। यह कहते हुए बेटर डॉट कॉम (Better.com) के भारतीय-अमेरिकी संस्थापक और सीईओ विशाल गर्ग ने तीन मिनट की जूम कॉल पर 900 कर्मचारियों को बर्खास्त कर दिया। यह वीडियो हाल ही में वायरल हुआ जिसके बाद से यह मामला चर्चा में है। यह कंपनी घर खरीदने वाले लोगों को डिजिटली कर्ज दिलाने में मदद करती है।

वैसे तो गर्ग वीडियो कॉल के बाद से विलेन बन गए हैं लेकिन आपको बता दें कि गर्ग ने इस साल की शुरुआत में महामारी के मद्देनजर न्यूयॉर्क शहर के पब्लिक स्कूल के छात्रों के लिए लगभग 2 मिलियन डॉलर का दान दिया था।

दरअसल वीडियो कॉल में बेटर डॉट कॉम के 43 वर्षीय संस्थापक और सीईओ विशाल गर्ग ने एक बार में 900 कर्मचारियों को कंपनी से निकाल दिया। उन्होंने वीडियो कॉल पर कहा कि यदि आप इस कॉल पर हैं तो आप उस अनलकी ग्रुप का हिस्सा हैं जिसे बंद किया जा रहा है। गर्ग ने कॉल पर कहा कि यहां आपका रोजगार तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दिया गया है। नौकरी से निकालने से पहले उन्होंने इस फैसले के लिए बाजार की कार्यक्षमता, प्रदर्शन और उत्पादकता का हवाला दिया था।