2021 में अमेरिका का विशेष वीजा पाने वाली शीर्ष 5 कंपनियों में 3 भारतीय

इन भारतीय कंपनियों के लिए अनुमति न देने की दर भी उल्लेखनीय रूप से कम रही, जो पिछले कुछ वर्षों के मुकाबले औसतन एक से पांच फीसदी के बीच रही। अध्ययन में पता चला है कि वित्त वर्ष 2021 में काम जारी रखने के लिए एच-1बी वीजा को अनुमति न देने की दर दो फीसदी रही।

2021 में अमेरिका का विशेष वीजा पाने वाली शीर्ष 5 कंपनियों में 3 भारतीय
Photo by Anete Lūsiņa / Unsplash

वित्त वर्ष 2021 में भारत की तीन आईटी कंपनियां उन शीर्ष पांच कंपनियों में शामिल रही हैं जिन्हें सबसे ज्यादा एच-1बी वीजा (H-1B Visa) प्राप्त हुए हैं। यह जानकारी एक गैर लाभकारी सार्वजनिक नीति संग नेशनल फाउंडेशन ऑफ अमेरिकन पॉलिसी (NFAP) की ओर से किए गए अमेरिकी नागरिकता एवं आप्रवासन सेवाओं (USCIS) पर डाटा के अध्ययन की एक रिपोर्ट में सामने आई है।

रिपोर्ट के अनुसार दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन (Amazon) को लगातार दूसरे वर्ष सर्वाधिक एच-1बी वीजा प्राप्त हुए। इसके बाद इन्फोसिस (Infosys), टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) और कॉग्निजेंट (Cognizant) का नाम आता है। इन कंपनियों के लिए अनुमति न देने की दर भी उल्लेखनीय रूप से कम रही, जो पिछले कुछ वर्षों के मुकाबले औसतन एक से पांच फीसदी के बीच रही।