कनाडे में पावो भंगड़ा ते क...म, अमेरिक्का नाल होने लगी टाटा-बाय बाय

2021 में लगभग 100,000 भारतीय कनाडा के स्थायी निवासी बन गए। तब कनाडा ने अपने इतिहास में रिकॉर्ड 405,000 नए अप्रवासियों को स्वीकार किया। एनएफएपी के आंकड़े बताते हैं कि अमेरिका अब ज्यादातर भारतीयों के लिए लोकप्रिय गंतव्य नहीं रहा, उसकी जगह कनाडा ले रहा है।

कनाडे में पावो भंगड़ा ते क...म, अमेरिक्का नाल होने लगी टाटा-बाय बाय

कोरोना महामारी के कारण अर्थव्यवस्था में आई सुस्ती को दूर करने और श्रमिकों की हो रही भारी कमी को दूर करने के लिए कनाडा ने 2022 में रिकॉर्ड 432,000 नए अप्रवासियों को अपने देश में जगह देने की योजना तैयार की थी। इस दिशा में कनाडा ने तेजी से काम किया। यही कारण है कि कनाडा ने साल के पहले तीन महीनों में ही 108,000 नए लोगों का स्वागत किया है। इनमें बड़ी संख्या भारतीयों की है। एक अमेरिकी संस्था की रिपोर्ट को मानें तो ज्यादातर भारतीयों के लिए अब अमेरिका की जगह कनाडा लोकप्रिय गंतव्य बन गया है।

2021 में लगभग 100,000 भारतीय कनाडा के स्थायी निवासी बन गए। 

आप्रवासन, शरणार्थी और नागरिकता मंत्री सीन फ्रेजर ने आंकड़े जारी करते हुए कहा कि कनाडा को दुनिया भर में इतने सारे लोगों के लिए पसंद की जगह होने पर गर्व है। 2021 में लगभग 100,000 भारतीय कनाडा के स्थायी निवासी बन गए। तब कनाडा ने अपने इतिहास में रिकॉर्ड 405,000 नए अप्रवासियों को स्वीकार किया। 2021-2022 के दौरान, 210,000 से अधिक स्थायी निवासियों ने भी कनाडा की नागरिकता हासिल की।