भारत-अमेरिकी व्यापार और आर्थिक संबंधों के लिए यह वर्ष खास रहा: संधू

राजदूत तरणजी​त ने इस मौके पर कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका में मौजूद 200 भारतीय कंपनियों और भारत में 2,000 से अधिक अमेरिकी कंपनियों के साथ हमारे देशों के बीच आर्थिक साझेदारी की संभावना बहुत बड़ी है।

भारत-अमेरिकी व्यापार और आर्थिक संबंधों के लिए यह वर्ष खास रहा: संधू

वर्जीनिया के फेयरफैक्स काउंटी के एक व्यापारिक प्रतिनिधिमंडल के लिए आयोजित एक स्वागत समारोह में भारत के शीर्ष राजनयिक तरणजीत संधू ने कहा कि भारत-अमेरिका के लिए व्यापार और आर्थिक संबंधों में यह एक महत्वपूर्ण वर्ष रहा है। भारत के अमेरिका में शीर्ष राजनयिक ने दोनों देशों के बीच आर्थिक साझेदारी की क्षमताओं को रेखांकित करते हुए यह बात कही।

अमेरिका में भारत के राजदूत तरणजीत सिंह संधू ने कहा कि पिछले साल हमने भारत-अमेरिका द्विपक्षीय व्यापार में 160 अरब अमेरिकी डॉलर (12,45,504 करोड़ रुपये) से अधिक की ऐतिहासिक ऊंचाई हासिल की थी। यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि हम बिना किसी औपचारिक व्यापार समझौते के और आपूर्ति श्रृंखला में व्यवधान के बावजूद महामारी के दौरान इसे हासिल करने में सक्षम थे।

स्वागत समारोह में भाग लेने वालों में वर्जीनिया के वाणिज्य और व्यापार सचिव कैरन मेरिक, कृषि और वानिकी सचिव मैथ्यू लोहर, फेयरफैक्स काउंटी आर्थिक विकास प्राधिकरण (FCEDA) के सीईओ विक्टर होस्किन्स और वर्जीनिया आर्थिक विकास भागीदारी के अंतरराष्ट्रीय व्यापार के उपाध्यक्ष स्टेफनी एज भी थे।

राजदूत तरणजी​त ने इस अवसर पर कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका में मौजूद 200 भारतीय कंपनियों और भारत में 2,000 से अधिक अमेरिकी कंपनियों के साथ हमारे देशों के बीच आर्थिक साझेदारी की संभावना बहुत बड़ी है। भारत-वर्जीनिया व्यापार 2019 में 1.65 बिलियन अमेरिकी डॉलर (12,844 करोड़ रुपये) था और तब से यह 15 फीसदी से अधिक बढ़ने का अनुमान है।

वर्जीनिया से भारत को 644.44 मिलियन अमेरिकी डॉलर (5,016 करोड़ रुपये) का निर्यात हुआ और वर्जीनिया ने 1.01 बिलियन अमेरिकी डॉलर (7,862 करोड़ रुपये) का आयात किया वर्जीनिया से भारत में निर्यात की जाने वाली शीर्ष वस्तुएं खनिज और अयस्क, अपशिष्ट और स्क्रैप, रसायन, कंप्यूटर और इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद और पेट्रोलियम और कोयला उत्पाद हैं।

वहीं भारत से वर्जीनिया को निर्यात की जाने वाली शीर्ष वस्तुओं में कपड़ा मिल उत्पाद, रसायन, परिधान निर्माण उत्पाद, परिवहन उपकरण और विद्युत उपकरण हैं। संधू ने इंडिया हाउस में आयोजित स्वागत समारोह में कहा कि मैं समझता हूं कि वर्जीनिया अगले साल की शुरुआत में भारत में एक व्यापार मिशन भेजेगा। हमें इस यात्रा को उपयोगी बनाने में खुशी होगी।