ऑस्ट्रेलिया की इस एकेडमी के अगले अध्यक्ष होंगे प्रो. जगदीश, उपलब्धि पाने वाले पहले भारतीय

प्रो. जगदीश ने कई अहम खोज की हैं। एलईडी लाइट में इस्तेमाल किए जाने वाले सेमी-कंडक्टर को विकसित करने में मदद की है। उन्होंने दुनिया के कुछ सबसे छोटे लेजर डिजाइन भी विकसित किए हैं। वह साल 1990 में ऑस्ट्रेलियन नेशनल यूनिवर्सिटी में एक शोध वैज्ञानिक के तौर पर काम करने के लिए भारत से ऑस्ट्रेलिया आए थे।

ऑस्ट्रेलिया की इस एकेडमी के अगले अध्यक्ष होंगे प्रो. जगदीश, उपलब्धि पाने वाले पहले भारतीय

नैनोटेक्नोलॉजी के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाले प्रोफेसर चेन्नुपति जगदीश ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख विज्ञान संगठन ऑस्ट्रेलियन एकेडमी ऑफ साइंस के अगले अध्यक्ष होंगे। इसे लेकर प्रो. जगदीश ने कहा कि मैं एकेडमी का नेतृत्व करने का अवसर पाकर खुश हूं। उल्लेखनीय है कि इस भूमिका को निभाने वाले वह पहले भारतीय मूल के शख्स होंगे।

एकेडमी देश की संसद को वैज्ञानिक सलाह प्रदान करने में अहम भूमिका निभाती है। 

प्रो. जगदीश ने कहा, 'जब में 31 साल पहले ढाई साल के कॉन्ट्रैक्ट और दो महीने के बच्चे के साथ ऑस्ट्रेलिया आया था तब मैंने सोचा भी नहीं था कि मुझे इस एकेडमी का सदस्य चुना जाएगा और एक दिन मुझे इसका नेतृत्व करने का मौका मिलेगा।' उन्होंने कहा कि एकेडमी देश की संसद को वैज्ञानिक सलाह प्रदान करने में अहम भूमिका निभाती है।