Air India के नए सीईओ की जांच कर रही है सरकार, लग रहे कैसे-कैसे कयास?

एक अधिकारी ने कहा कि नागरिक सेवा एक ऐसा क्षेत्र है जिसकी सुरक्षा के दृष्टिकोण से बारीकी से जांच होना आवश्यक है। समझा जाता है कि सरकार ने इस मुद्दे पर संवेदनशील प्रकृति को देखते हुए टाटा समूह के अधिकारियों के साथ इस मामले में अनौपचारिक रूप से चर्चा किया है।

Air India के नए सीईओ की जांच कर रही है सरकार, लग रहे कैसे-कैसे कयास?

टाटा समूह ने एयर इंडिया के अधिग्रहण के बाद इसके ऑपरेशन को कायाकल्प करने के लिए तुर्की के कारोबारी इल्कर आयसी का चयन किया था। इधर ये फैसला हुआ और उधर भारत के गृह मंत्रालय ने आयसी की बैकग्राउंड वैरीफिकेशन कराना शुरू कर दिया। मीडिया रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि सरकार ये जांच खुफिया एजेंसियों से कराएगी। अब सवाल ये कि आखिर इतनी भारी भरकम जांच की जरूरत क्यों पड़ रही है?

नया मामला तुर्की के प्रवासी नागरिक इल्कर आयसी की नियुक्ति व सरकारी मंजूरी को लेकर है।

नया मामला तुर्की के इस प्रवासी नागरिक की नियुक्ति व सरकारी मंजूरी को लेकर है। आयसी ने तुर्की के राष्ट्रपति तईप एर्दोगन के सलाहकार के रूप में भी काम किया है जिन्हें पाकिस्तान का सहयोगी माना जाता है। टाटा समूह ने 15 फरवरी को आयसी को एयर इंडिया का नया सीईओ घोषित किया था। ऐसे में अब यह सरकार पर निर्भर करता है कि वह देश का गौरव रहे एयर इंडिया के नए सीईओ की जांच किस तरह से करते हैं।