मैरीलैंड में सॉफ्टवेयर इंजीनियर साई की चलती कार में गोली मारकर हत्या

सॉफ्टवेयर इंजीनियर साई चरण मैरीलैंड के बाल्टीमोर शहर की एक कंपनी में पिछले दो साल से काम कर रहा था। बता दें कि सूचना मिलते ही उसके माता-पिता और परिवार के अन्य सदस्य सदमे में आ गए हैं। परिवार वालों ने भारत सरकार और तेलंगाना सरकार से शव को घर पहुंचाने में मदद करने की अपील की है।

मैरीलैंड में सॉफ्टवेयर इंजीनियर साई की चलती कार में गोली मारकर हत्या

अमेरिका के मैरीलैंड राज्य में भारत स्थित तेलंगाना राज्य के एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर की अज्ञात व्यक्ति ने गोली मारकर हत्या कर दी है। राज्य के नलगोंडा जिले के रहने वाले नक्का साई चरण की उम्र मात्र 26 वर्ष थी। नक्का साई की मौत उस वक्त हुई जब एक अज्ञात व्यक्ति ने रविवार शाम उस पर गोली चला दी।

अमेरिका में उसके दोस्तों ने तेलंगाना में बसे उसके परिवार वालों को घटना की जानकारी दी है। पूरा मामला यह है कि रविवार शाम चरण मैरीलैंड में कैटन्सविले के पास अपनी गाड़ी से सफर कर रह था कि उसे चलती गाड़ी में गोली मारकर हत्या कर दी गई। वह उस वक्त अपने एक दोस्त को एयरपोर्ट पर छोड़कर घर लौट रहा था।

मैरीलैंड ट्रांसपोर्टेशन अथॉरिटी पुलिस (एमडीटीए) के अनुसार उन्हें रविवार सुबह 4.32 बजे पूर्वी तट पर मुख्य उत्तर-दक्षिण अंतरराज्यीय राजमार्ग अंतरराज्यीय 95 के कैटन एवेन्यू से बाहर निकलने पर एक वाहन के टकराने की सूचना मिली ​थी। मौके पर पहुंची पुलिस ने देखा कि 2022 की सिल्वर हुंडई टक्सन के अंदर नक्का साई चरण घायल पड़ा हुआ था।

पुलिस ने आनन फानन में साई चरण को मैरीलैंड विश्वविद्यालय के आर एडम्स काउली शॉक ट्रॉमा सेंटर तक पहुंचाया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। इलाज के दौरान ही डॉक्टरों को पता चला कि चरण के सिर में गोली लगी है। एमडीटीए के एक बयान में कहा गया है कि दो घंटे से भी कम समय में उनकी मृत्यु हो गई।

सॉफ्टवेयर इंजीनियर साई चरण मैरीलैंड के बाल्टीमोर शहर की एक कंपनी में पिछले दो साल से काम कर रहा था। बता दें कि सूचना मिलते ही उसके माता-पिता और परिवार के अन्य सदस्य सदमे में आ गए हैं। परिवार वालों ने भारत सरकार और तेलंगाना सरकार से शव को घर पहुंचाने में मदद करने की अपील की है। भारत में साई चरण के परिवार वालों ने बताया कि वह एक सेवानिवृत्त स्कूल शिक्षक का बेटा था। चार साल पहले ही वह अमेरिका गया था। दो साल बाद उसने बाल्टीमोर फर्म में नौकरी कर ली थी। उसकी बहन भी यूएस में पढ़ रही है। पुलिस जांच में जुटी है।