ब्रिटेन की यात्रा से अपनी वैश्विक उपस्थिति दर्ज करने में जुटा भारत का तेलंगाना

यूके में कदम रखते ही तेलंगाना के उद्योग, आईटी और शहरी विकास मंत्री के तारका रामा राव का भारतीय प्रवासियों ने स्वागत किया। राव विश्व आर्थिक मंच (WEF) की वार्षिक बैठक में भाग लेंगे जो 22 से 26 मई तक है। यह वार्षिक बैठक महामारी के बाद के युग में वैश्विक नेताओं की पहली सबसे बड़ी व्यक्तिगत सभा है।

ब्रिटेन की यात्रा से अपनी वैश्विक उपस्थिति दर्ज करने में जुटा भारत का तेलंगाना

भारत के राज्य तेलंगाना के उद्योग, आईटी और शहरी विकास मंत्री के तारका रामा राव आज से 26 मई तक यूके और दावोस (स्विट्जरलैंड) के दौरे पर हैं। यूके में कदम रखते ही रामा राव का हवाई अड्डे पर भारतीय प्रवासियों ने स्वागत किया। राव विश्व आर्थिक मंच (WEF) की वार्षिक बैठक में भाग लेंगे जो 22 से 26 मई तक निर्धारित है।

तेलंगाना के उद्योग, आईटी और शहरी विकास मंत्री के तारका रामा राव

रामा राव की योजना है कि वह इस मंच के जरिए तेलंगाना में निजी कंपनियों को आमंत्रित करें। इसके लिए वह अपनी टीम के साथ यूके इंडिया बिजनेस काउंसिल द्वारा आयोजित दो गोलमेज बैठकों में भी भाग लेंगे। उनकी पार्टी के सदस्यों में से एक एम अब्दुल कलीम ने आज की नाश्ते की बैठक की तस्वीरें साझा कीं।

उन्होंने ट्वीट किया कि माननीय आईटी और उद्योग मंत्री केटी रामा राव गारू ने यूके इंडिया बिजनेस काउंसिल द्वारा आयोजित एक उच्चस्तरीय ब्रेकफास्ट मीटिंग में हिस्सा लिया और तेलंगाना की व्यावसायिक साख को पेश किया।

उन्होंने आगे कहा कि दावोस-क्लोस्टर्स में WEF की वार्षिक बैठक हर साल वैश्विक, क्षेत्रीय और उद्योग एजेंडा को आकार देने के लिए सहयोगी गतिविधियों में दुनिया के शीर्ष नेताओं को शामिल करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण रचनात्मक शक्ति है। साल-दर-साल यह तेलंगाना के लिए दुनिया भर के शीर्ष नेताओं के बीच अपनी उपस्थिति दर्ज कराने और राज्य में निवेश प्रवाह को आकर्षित करने के लिए एक महान मंच साबित हुआ है।

बता दें कि यह वार्षिक बैठक महामारी के बाद के युग में वैश्विक नेताओं की पहली सबसे बड़ी व्यक्तिगत सभा है। इसमें भाग लेने से तेलंगाना सरकार को सभी सीईओ-स्तरीय बातचीत, सार्वजनिक व्यक्ति संवाद, परियोजनाओं और कार्यशालाओं तक पहुंच बनाने में मदद मिलेगी। इसमें प्रमुख फार्मा, खाद्य प्रसंस्करण और ऑटोमोटिव उद्योगों को प्राथमिकता दी जाती है। राव की टीम इन वैश्विक कंपनियों से मुलाकात करते हुए राज्य को एक निवेश गंतव्य बताते हुए अपना प्रजेंटेशन देगी। यह मंच सभी प्रमुख भारतीय हस्तियों सहित सरकारी और निजी क्षेत्रों के 2000 से अधिक वैश्विक नेताओं तक राज्य की पहुंच प्रदान करता है।