सऊदी अरब में वाहनों के माइलेज आधार पर लगेगा रजिस्ट्रेशन रिन्यूअल शुल्क

नया नियम दो चरणों में लागू किया जा रहा है। पहला चरण 2022 में पूरा होगा और दूसरा चरण 2023 में सऊदी ऊर्जा दक्षता केंद्र के साथ पूरा किया जाएगा।।

सऊदी अरब में वाहनों के माइलेज आधार पर लगेगा रजिस्ट्रेशन रिन्यूअल शुल्क
Photo by Håkon Sataøen / Unsplash

सऊदी अरब सरकार ने फैसला किया है कि अब वाहन रजिस्ट्रेशन (Istimara) के रिन्यूअल के लिए लगने वाली सालाना फीस को वाहन की ईंधन दक्षता (Fuel Efficiency) के आधार पर लिया जाएगा। सरकार ने सऊदी ऊर्जा दक्षता केंद्र (SEEC) द्वारा प्रस्तुत प्रस्तावों का समर्थन किया। नए प्रस्ताव में हल्के वाहनों का अधिकतम जीवनकाल और पुराने वाहनों को हटाने की प्रणाली शामिल है। इस सालाना फीस को वाहनों को दो श्रेणियों में बांटकर तय किया जाता है। पहली श्रेणी में 2016 और उसके बाद निर्मित हल्के वाहन हैं। दूसरी श्रेणी में 2015 और उससे पहले निर्मित हल्के और भारी वाहन शामिल हैं।

पहली श्रेणी में अगर वाहन का माइलेज 16 या इससे अधिक किलोमीटर प्रति लीटर है, तो वार्षिक शुल्क की जरूरत नहीं है। 15.99-14 किमी तक के माइलेज वाले वाहनों के लिए 50 रियाल, 13.99 से 12 किमी तक के माइलेज वाले वाहनों के लिए 85 रियाल, 11.99 से 10 किमी के लिए 130 रियाल का शुल्क लगेगा। साथ ही जिन वाहनों का माइलेज 10 किमी प्रति लीटर से कम है, उन्हें हर साल 190 सऊदी रियाल देने होंगे। एक सऊदी रियाल की कीमत करीब 20 भारतीय रुपये है।