कनाडा: कार्तिक की हत्या में संदिग्ध पकड़ा, परिजनों का सवाल, क्यों हुई हत्या?

पुलिस ने संदिग्ध की पहचान रिचर्ड जोनाथन एडविन के रूप में की है। उस पर पिछले शनिवार को एक अन्य व्यक्ति की हत्या करने का आरोप है। पुलिस का कहना है कि संदिग्ध की कोई आपराधिक पृष्ठभूमि नहीं है। पुलिस का कहना है कि यह अचानक की गई हत्या है।

कनाडा: कार्तिक की हत्या में संदिग्ध पकड़ा, परिजनों का सवाल, क्यों हुई हत्या?

कनाडा में 21 साल के भारतीय छात्र कार्तिक वासुदेव की हत्या करने के मामले में टोरंटो पुलिस ने एक संदिग्ध को गिरफ्तार करने का दावा किया है। सेंट जेम्स टाउन के शेरबोर्न टीटीसी स्टेशन के ग्लेन रोड प्रवेश द्वार पर गुरुवार शाम को कार्तिक की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उसे अस्पताल ले जाया गया था, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी। वहीं, परिजन टोरंटो पुलिस के खुलासे से संतुष्ट नहीं हैं और तमाम तरह के सवाल उठा रहे हैं।

टोरंटो पुलिस के प्रमुख जेम्स रेमर ने पत्रकारों को बताया कि कार्तिक शेरबोर्न सबवे स्टेशन के बाहर ही था जब एक संदिग्ध व्यक्ति उसके पास आया और कई बार गोली चलाई, जिससे उसकी मौत हो गई। पुलिस ने संदिग्ध की पहचान रिचर्ड जोनाथन एडविन के रूप में की है। उस पर पिछले शनिवार को एक अन्य व्यक्ति की हत्या करने का आरोप है। रेमर का कहना है कि संदिग्ध की कोई आपराधिक पृष्ठभूमि नहीं है। हम उसकी आपराधिक पृष्ठभूमि का पता लगाने के लिए गहराई से मामले की छानबीन कर रहे हैं। इस बात की जांच की जा रही है कि यह व्यक्ति कौन है, कहां रहा है और वह किससे जुड़ा रहा है। रेमर के मुताबिक आरोपी का कहना है कि उसका कार्तिक से कोई संबंध नहीं था। उसने कार्तिक को पहले कभी देखा भी नहीं था। पुलिस का कहना है कि यह अचानक की गई हत्या है।

भारतीय छात्र कार्तिक वासुदेव की हत्या करने के मामले में न्याय की मांग में प्रदर्शन करते लोग। 

वहीं, भारत के गाजियाबाद शहर में रहने वाले कार्तिक के परिजन इस खुलासे से संतुष्ट नहीं हैं। कार्तिक के परिजनों का कहना है कि भले ही पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा कर आरोपी को गिरफ्तार किया है, लेकिन कार्तिक की हत्या करने की वजह साफ नहीं बताई है। इसलिए वह इस खुलासे से संतुष्ट नहीं हैं।

कार्तिक के पिता का कहना है कि उन्हें और उनके दूसरे बेटे को कनाडा जाने का वीजा मिला है। शनिवार को कार्तिक का शव गाजियाबाद आएगा। अंतिम संस्कार करने के बाद वह कनाडा जाएंगे और वहां जाकर आरोपी को सख्त से सख्त सजा दिए जाने की मांग करेंगे। उन्होंने कहा कि वह वहां की सरकार से भी गुजारिश करेंगे। साथ ही वहां की अदालत में भी वह हत्यारोपी को सख्त सजा दिलाने की अपील करेंगे।

गौरतलब है कि गाजियाबाद के राजेंद्र नगर सेक्टर-15 में रहने वाले जितेश वासुदेव ने अपने बेटे कार्तिक वासुदेव को करीब तीन माह पहले कनाडा के टोरंटो में एमबीए करने के लिए भेजा था। कार्तिक वहां एक रेस्टोरेंट में पार्ट टाइम जॉब भी करते थे। बीते गुरुवार को टोरंटो में मेट्रो स्टेशन के बाहर हमलावर ने कार्तिक की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी थी।