घाना में सूर्य नमस्कार करते युवाओं को देख आप कह उठेंगे, विश्वव्यापी है योग

8वें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को अब डेढ़ महीने से भी कम वक्त रह गया है। इसको लेकर दुनियाभर में भारतीय मिशन कर्टन रेजर प्रोग्राम आयोजित कर रहा है। घाना का योग उत्सव भी उसी कर्टन रेजर कार्यक्रम का हिस्सा है।

घाना में सूर्य नमस्कार करते युवाओं को देख आप कह उठेंगे, विश्वव्यापी है योग
घाना के इंडिपेंडेंस आर्क के पास योग का अभ्यास। 

भारत के योग दर्शन का जादू आज किस तरह पूरी दुनिया के सिर चढ़कर बोल रहा है इसका नजारा अफ्रीकी देश घाना के सुप्रसिद्ध ब्लैक स्टार स्क्वायर और इंडिपेंडेंस आर्क के पास देखने को मिला। यहां युवाओं की टोली शनिवार और रविवार सुबह योग के कठिन आसनों का अभ्यास करती नजर आई। ये दोनों स्मारक घाना की आजादी के संघर्ष की कहानी बयां करते हैं।

8वें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को अब डेढ़ महीने से भी कम वक्त रह गया है। इसको लेकर दुनियाभर में भारतीय मिशन कर्टन रेजर प्रोग्राम आयोजित कर रहा है, जिसके तहत पिछले दिनों भारत की विदेश राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी पनामा में योग कार्यक्रम में नजर आई थीं। घाना का योग उत्सव भी उसी कर्टन रेजर कार्यक्रम का हिस्सा है। घाना में मौजूद भारतीय उच्चायोग ने राजधानी एक्रा के योग उत्सव कार्यक्रम की तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर की हैं।

सूर्य नमस्कार करते युवाओं ने जीता दिल

योग उत्सव दरअसल भारत की आजादी के अमृत महोत्सव कार्यक्रम का भी हिस्सा है जिसका उद्देश्य वैश्विक सेहत और सौहार्द का प्रसार करना है। उच्चायोग के इस कार्यक्रम में अफ्रीकी युवाओं ने भी पूरे जोश के साथ हिस्सा लिया। योग के प्रति उनका लगाव आपको वीडियो में स्पष्ट रूप से नजर आ जाएगा। ब्लैक स्टार स्क्वायर के पास सूर्य नमस्कार जैसे कठिन आसन को वे जितनी आसानी से फुर्ती के साथ कर रहे हैं उससे लगता है कि योग घाना वासियों के जीवन का अहम हिस्सा बन चुका है।

घाना में योग का अभ्यास करते युवा।

जब वोल्टा नदी के किनारे उच्चायोग टीम ने किया 'पावर योग'

भारतीय उच्चायोग घाना में लगातार योग शिविर लगा रहा है। इससे पहले उच्चायोग की टीम ने  स्ट्रीमर पर बैठकर और वोल्टा नदी के किनारे योग का शिविर लगाया था। मई की शुरुआत में उच्चायोग की टीम मानव निर्मित दुनिया के सबसे बड़े झील वोल्टा लेक पहुंची और योग आसन कर स्थानीय लोगों के बीच इसका प्रचार किया। इसके बाद यह टीम सेहत और वैश्विक शांति का संदेश देने के लिए वोल्टा नदी के किनारे पावर योग और सूर्य नमस्कार का अभ्यास करती हुई नजर आई थी।

भारत के प्रयास के बाद संयुक्त राष्ट्र  ने 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस घोषित किया था। साल 2015 के बाद से दुनियाभर में इस दिन योग दिवस मनाया जा रहा है। भारत में आयुष मंत्रालय इस दिन विशेष कार्यक्रम का आयोजन करता है जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शिरकत करते हैं। मंत्रालय ने योग दिवस से पहले एक सर्वेक्षण की शुरुआत की है ताकि यह समझा जा सके कि लोग योग को अपने जीवन में किस तरह से देखते हैं, वे किस तरह की योग गतिविधियों से जुड़े हुए हैं और उन्हें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की जानकारी है या नहीं?