मनीषी सत्यव्रत शास्त्री ने थाईलैंड की महारानी को सिखाई थी संस्कृत

संस्कृत के मूर्धन्य विद्वान पंडित सत्यव्रत शास्त्री ने अपने अथक पुरुषार्थ से पूरे विश्व में संस्कृत भाषा के प्रचार-प्रसार व उसे लोकप्रिय बनाने में अविस्मरणीय योगदान दिया। उनके निधन से संस्कृत के एक युग का अवसान हो गया।

मनीषी सत्यव्रत शास्त्री ने थाईलैंड की महारानी को सिखाई थी संस्कृत

विश्व प्रसिद्ध संस्कृत भाषा के विद्वान व मनीषी रचनाकार सत्यव्रत शास्त्री का निधन हो गय हैा। वह 91 वर्ष के थे। शास्त्री कनाडा, इटली, रोमानिया, थाईलैंड, नेपाल समेत अनेक देशों में अतिथि प्रोफेसर थे एवं बैंकाक में संस्कृत प्रशिक्षण केंद्र भी स्थापित किया था।

शास्त्री ने थाईलैंड की महारानी को संस्कृत सिखाई और संस्कृत में ही बीए व एमए की डिग्री दिलाई।

शास्त्री ने थाईलैंड की महारानी को संस्कृत सिखाई और संस्कृत में ही बीए व एमए की डिग्री दिलाई। यही नहीं थाईलैंड समेत कई देशों में उन्होंने संस्कृत के अभिलेख ढूंढे। उन्हीं के प्रयासों से सिल्पाकोर्न विश्वविद्यालय, थाईलैंड में संस्कृत अध्ययन केंद्र की स्थापना हुई।