SAARC बंदी समझौते के तहत भारतीय कैदियों को रिहा करेगा श्रीलंका

जून 2010 में भारत और श्रीलंका के बीच सजा काट रहे कैदियों के आदान-प्रदान से संबंधित एक द्विपक्षीय समझौता हुआ था। यह समझौता होने के बाद दोनों देशों के बीच कैदियों को भेजने का रास्ता साफ हो गया था। निजता की रक्षा का हवाला देते हुए कैदियों के नाम के बारे में कोई जानकारी साझा नहीं की गई है।

SAARC बंदी समझौते के तहत भारतीय कैदियों को रिहा करेगा श्रीलंका
Photo by Anastasia Palagutina / Unsplash

श्रीलंका ने एक समझौते के तहत उम्रकैद की सजा काट रहे दो भारतीय कैदियों को भारत वापस भेजने का फैसला लिया है। द्वीपीय देश ने यह कदम दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (SAARC) के बंदी आदान-प्रदान समझौते के तहत उठाया है।  देश के विधि मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव ने कारागार विभाग के महा-आयुक्त को दोनों भारतीय कैदियों को रिहा करने का निर्देश दिया है।

यहां के जेल विभाग के प्रवक्ता चंदाना एकनायके ने बताया कि एक कैदी को बुधवार को कोलंबो अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर भारतीय अधिकारियों को सौंपा गया था और दूसरे कैदी को आज यानी गुरुवार को भारतीय अधिकारियों के हवाले कर दिया जाएगा। एकनायके ने निजता की रक्षा का हवाला देते हुए कैदियों के नाम के बारे में कोई जानकारी साझा नहीं की।