भारतीय फिल्मी सितारों पर फिदा है UAE, इसलिए दे रहा है 'गोल्डन वीजा'

यूएई ने साल 2019 में विदेशियों को यहां आकर काम करने, रहने और पढ़ाई करने की अनुमति देते हुए एक स्थायी आवासीय कार्यक्रम शुरू किया था। इसके तहत विदेशी नागरिकों को राष्ट्रीय स्पॉन्सर की जरूरत से राहत दी गई है। गोल्डन वीजा धारकों को आम वीजा धारकों की तुलना में कई अतिरिक्त सुविधाएं मिलती हैं।

भारतीय फिल्मी सितारों पर फिदा है UAE, इसलिए दे रहा है 'गोल्डन वीजा'

भारतीय फिल्म इंडस्ट्री बॉलीवुड की कई शख्सियतों को संयुक्त अरब अमीरात (UAE) का गोल्डन वीजा (Golden Visa) प्रदान किया जा चुका है। यह वीजा उन्हें लंबे समय तक यहां रहने की सुविधा उपलब्ध कराता है। इसका मतलब है कि यह विशेष वीजा रखने वाले लोग कागजी कार्यवाही में फंसे बिना इस खाड़ी देश में काम कर सकते हैं, रह सकते हैं और छुट्टियां मना सकते हैं।

बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद। 

यूएई ने साल 2019 में विदेशियों को यहां आकर काम करने, रहने और पढ़ाई करने की अनुमति देते हुए एक स्थायी आवासीय कार्यक्रम शुरू किया था। इसके तहत विदेशी नागरिकों को राष्ट्रीय स्पॉन्सर की जरूरत से राहत दी गई है और यहां उनके कारोबार का 100 फीसदी मालिकाना हक भी उनके पास ही रहता है। खाड़ी देशों में आमतौर पर सीमित अवधि के लिए रहने की अनुमति ही दी जाती है।

उल्लेखनीय है कि खाड़ी देशों में अपनी तरह की इस पहली योजना की शुरुआत विदेशी नेतृत्व को आकर्षित करने और गतिविधियों के सबसे विविध क्षेत्रों में सर्वश्रेष्ठ लोगों को देश में लाने के उद्देश्य के साथ की गई थी। इस वीजा की अवधि 10 साल की होती है लेकिन अगर वीजा धारक अवधि पूरी होने तक जरूरी आवश्यकताओं को पूरा कर लेता है तो यह वीजा अपने आप नवीनीकृत हो जाता है।

गोल्डन वीजा के साथ शाहरुख इस देश में कई लग्जरी संपत्तियों के मालिक हैं। 

इन भारतीय शख्सियतों को मिला यह वीजा
यह वीजा पाने वाले लोगों में भारत की कई बड़ी शख्सियतों के नाम शामिल हैं। इनमें भारतीय फिल्म उद्योग के बेताज बादशाह शाहरुख खान का नाम भी शामिल है। गोल्डन वीजा के साथ शाहरुख इस देश में कई लग्जरी संपत्तियों के मालिक हैं। इसके अलावा साल 2016 में उन्हें दुबई का ब्रांड एंबेसडर भी बनाया गया था। वहीं, दिग्गज अभिनेता संजय दत्त को भी यूएई का गोल्डन वीजा दिया जा चुका है।

प्रसिद्ध टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा को भी यह वीजा दिया चुका है। पिछले साल सितंबर में प्रसिद्ध फिल्म निर्माता बोनी कपूर और उनके बच्चों को गोल्डन वीजा मिला था। बोनी कपूर के भाई और अभिनेता संजय कपूर को भी यह वीजा हासिल है। इसके अलावा वरुण धवन, मौनी रॉय, उर्वशी रौतेला, सुनील शेट्टी, नेहा कक्कड़, फराह खान, सोनू सूद और रणवीर सिंह भी यह वीजा पा चुके हैं।

गोल्डन वीजा धारकों को मिलते हैं ये फायदे
गोल्डन वीजा धारकों को आम वीजा धारकों की तुलना में कई अतिरिक्त सुविधाएं मिलती हैं। इसके तहत मिलने वाली सबसे अहम सुविधा यह है कि गोल्डन वीजा धारक बिना किसी अन्य व्यक्ति या कंपनी की सहायता के अपने पति या पत्नी और बच्चों के साथ यूएई में रह सकते हैं। इस वीजा का एक और फायदा यह भी मिलता है कि गोल्डन वीजाधारक तीन अन्य कर्मचारियों को स्पॉन्सर भी कर सकते हैं।