ट्विटर खरीदने के चलते एलन मस्क का ध्यान टेस्ला से भटक गया है, वाकई?

प्री बुकिंग के लिए ग्राहकों को मात्र 1,000 डॉलर की राशि जमा करनी थी। टेस्ला ने विश्व स्तर पर मॉडल 3 नाम की अपनी कार की 3,00,000 मॉडल की डिलीवरी का वादा किया था। भारत में कई प्रशंसकों ने इस कार को हासिल करने के लिए प्री बुकिंग कराई थी। लेकिन अब वे निराश हैं।

ट्विटर खरीदने के चलते एलन मस्क का ध्यान टेस्ला से भटक गया है, वाकई?
Photo by Tesla Fans Schweiz / Unsplash

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर को खरीदने वाले एलन मस्क ने जहां इस डील को लेकर खूब प्रशंसा बटोरी है, वहीं उनके दूसरे कारोबार टेस्ला को लेकर उन्हें खूब खरी खोटी भी सुनाई जा रही है। साल 2016 में एलन मस्क ने  घोषणा की थी कि उनकी कंपनी टेस्ला ने मॉडल 3 नाम से एक कार को लॉन्च किया है जिसको पाने के लिए भारत सहित उत्तरी अमेरिका के कई देशों के निवासी प्री बुकिंग करवा सकते हैं।

प्री बुकिंग के लिए ग्राहकों को मात्र 1,000 डॉलर की राशि जमा करनी थी। टेस्ला ने विश्व स्तर पर मॉडल 3 नाम की अपनी कार की 3,00,000 मॉडल की डिलीवरी का वादा किया था। भारत में कई प्रशंसकों ने इस कार को हासिल करने के लिए प्री बुकिंग कराई थी। लेकिन अब वे निराश हैं। दरअसल कार हासिल करने के लिए वे 1,000 डॉलर यानी लगभग 75,000 रुपये से अधिक राशि जमा कर चुके थे लेकिन उन्हें न तो कार मिली और न ही उनकी धनराशि को रिफंड किया गया।

भारत के एक दैनिक अखबार में छपि एक रिपोर्ट के अनुसार कोलकाता के शख्स ने अखबार को बताया कि कई बार अनुरोध करने के बावजूद उन्हें रिफंड नहीं मिला है। मैं अब टेस्ला जैसी कंपनी द्वारा ठगा हुआ महसूस कर रहा हूं। उन्होंने मेरे पैसे ले लिए हैं। ठीक है यह 1,000 डॉलर है। लेकिन फिर भी उन्होंने अभी मेरा पैसा लिया हुआ है और वो भी बिना किसी दस्तावेजों के। यह एक धोखाधड़ी की तरह है। मुझे यह कहते हुए दुख हो रहा है लेकिन ऐसा लगता है कि मेरे साथ धोखा हुआ है।

तकनीकी समाचार वेबसाइट चलाने वाले चेन्नई के एक उद्यमी वरुण कृष्णन ने टेस्ला का पहला 'लो-कॉस्ट' मॉडल बुक किया था क्योंकि वह उस समय मस्क के प्रशंसक थे। कृष्णन ने कहा कि मैं बस अपने क्रेडिट कार्ड की मदद से टेस्ला की कार हासिल करने के लिए अपनी किस्मत आजमा रहा था लेकिन मेरा तो पैसा ही चला गया। मैंने सोचा था कि भविष्य में भारत में किसी समय मेरे पास टेस्ला होगी लेकिन दुख की बात है कि ऐसा कभी नहीं हुआ। जैसे-जैसे महीने वर्षों में बदलते गए और कंपनी के वास्तव में देश में परिचालन शुरू करने के कोई संकेत नहीं दिखा तो मैंने कंपनी से अपनी धन वापसी की मांग की।

कंपनी के बहुत आगे-पीछे घूमने के बाद कृष्णन को आखिरकार पिछले साल अपना रिफंड मिल पाया और रिफंड मिलने के बाद भी वह अभी भी इस बात से खुश नहीं है कि अपनी ही धनराशि पाने के लिए उनके साथ गलत व्यवहार किया गया। कृष्णन ने बताया कि जब उनकी अपनी कार लॉन्च करने की कोई योजना नहीं थी तो उन्होंने किसी देश से बुकिंग क्यों ली। इन सबके बावजूद कृष्णन खुद को भाग्यशाली लोगों में से एक मानते हैं क्योंकि बहुत से लोगों को अपना पैसा वापस नहीं मिला है।

साल 2021 में कंपनी ने रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज (RoC) बैंगलोर के साथ अपनी भारतीय शाखा टेस्ला इंडिया मोटर्स एंड एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड को पंजीकृत किया। लेकिन यह अभी भी स्पष्ट नहीं है कि यह वास्तव में भारत में वाहनों की बिक्री कब शुरू करेगा क्योंकि यह अभी भी सरकार के साथ बहुत सारी चुनौतियों का सामना कर रहा है।

हाल ही में भारत सरकार द्वारा पूरी तरह से असेंबल किए गए वाहनों पर कर कटौती के कंपनी के प्रस्ताव को खारिज कर दिया गया था। मंगलवार को नई दिल्ली में एक सम्मेलन में सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा था कि कंपनी का भारत में निर्माण के लिए स्वागत है। अगर एलन मस्क भारत में निर्माण के लिए तैयार हो जाएं। लेकिन अगर वह चीन में निर्माण करना चाहते हैं और भारत में बेचना चाहता हैं तो यह भारत के लिए अच्छा प्रस्ताव नहीं हो सकता है।