वित्तीय जगत को नए सिरे से गढ़ रही हैं भारतीय मूल की 6 अमेरिकी महिलाएं, मिला सम्मान

प्रतिभाशाली महिलाओं की सूची में भारतीय मूल की अनु आयंगर का नाम भी शामिल है। वह जेपी मॉर्गन में एमएंडए की ग्लोबल सह अध्यक्ष हैं। बतौर बैंकर उनकी कई गतिविधियों में भूमिका रही है। कारोबार को आगे बढ़ाने और बड़े बड़े डील करने में उनकी बहुत ही रुचि है।

वित्तीय जगत को नए सिरे से गढ़ रही हैं भारतीय मूल की 6 अमेरिकी महिलाएं, मिला सम्मान

अमेरिका के वित्तीय जगत में भारतीय मूल की छह महिलाओं ने अपनी प्रतिभा का जलवा बिखेरा है। अमेरिका की साप्ताहिक पत्रिका बैरोन की तरफ से 100 सबसे प्रभावशाली महिलाओं की सूची जारी की गई है। इनमें भारतीय मूल की इन 6 महिलाओं को जगह देकर उन्हें सम्मानित किया गया है। पत्रिका के लेखकों और संपादकों के एक पैनल ने इन महिलाओं को चुना है। इस सूची में प्रमुख अमेरिकी कंपनियों के अधिकारी, निवेश प्रबंधक और आर्थिक विश्लेषक, लोक सेवक और नीति निर्माता शामिल हैं।

प्रतिभाशाली महिलाओं की सूची में भारतीय मूल की अनु आयंगर का नाम भी शामिल है। 

बैरोन की तरफ से बताया गया है कि इन प्रतिभाशाली महिलाओं ने आधुनिक वित्तीय-सेवा उद्योग को आकार देने में अहम भूमिका निभाई है। ये महिलाएं वित्तीय उद्योग के भविष्य को आकार दे रही हैं। अमेरिकी अर्थव्यवस्था को एक मजबूत पायदान पर रख रही हैं। समाज की अन्य महिलाओं को अधिक से अधिक अवसर देकर उन्हें ऊंचे स्तर पर ले जाने में भी इनका योगदान है। सूची में भारतीय मूल की एक महिला का नाम है माया चोरेंगेल का। वह एक वित्तीय कंपनी में भागीदार और सह प्रबंधक हैं। उन्होंने निवेश को मुख्यधारा में लाने में मदद की है। वह लोगों को इस बात को समझाने में कामयाब रही हैं कि सामाजिक और पर्यावरणीय समस्याओं से निपटने के लिए पूंजी निवेश करने से किस तरह से लाभ मिल सकता है।