सिंगापुर: भारतीय मूल के शख्स की याचिका खारिज, ड्रग तस्करी के मामले में मिला है मृत्यु दंड

मुख्य न्यायाधीश ने याचिका को यह कहते हुए खारिज किया कि अपीलकर्ता का मामला तथ्य और कानून दोनों को लेकर निराधार और अयोग्य है। धर्मलिंगम को 2009 में सिंगापुर में हेरोइन लाने के अपराध में मृत्युदंड दिया गया था। उसने हाईकोर्ट में, फिर सुप्रीम कोर्ट में और क्षमादान के लिए राष्ट्रपति से भी अपील की थी।

सिंगापुर: भारतीय मूल के शख्स की याचिका खारिज, ड्रग तस्करी के मामले में मिला है मृत्यु दंड

सिंगापुर में भारतीय मूल के मलेशियाई ड्रग तस्कर को साल 2010 में मौत की सजा सुनाई गई थी। इस शख्स ने सजा में राहत पाने की मांग करते हुए एक अपील दायर की थी। सिंगापुर की कोर्ट ऑफ अपील ने उसकी इस अपील को खारिज कर दिया।

धर्मलिंगम को साल 2009 में सिंगापुर में 42.72 ग्राम हेरोइन लाने के अपराध में साल 2020 में मृत्युदंड दिया गया था।

34 वर्षीय नागेंद्रन धर्मलिंगम ने हाईकोर्ट के एक फैसले के खिलाफ यह अपील दायर की थी। मंगलवार को हाईकोर्ट ने न्यायिक समीक्षा की कार्यवाही शुरू करने के धर्मलिंगम का आवेदन खारिज कर दिया था। धर्मलिंगम ने तर्क दिया था कि उसकी 'मानसिक आयु' 18 वर्ष से कम है।