सिंगापुर: नशे में ड्राइविंग करने और पुलिसकर्मी को रिश्वत देने के जुर्म में भारतीय को मिली यह सजा

सिंगापुर की भ्रष्ट आचरण जांच ब्यूरो (CPIB) ने बताया कि भारतीय मूल के कृष्णा की​ जिसमें वह शराब पिए हुए पाया गया। बाद में उसकी व्यक्तिगत तलाशी लेने के बाद गिरफ्तार कर लिया गया। पकड़े जाने के बाद मलेशियाई नागरिक भारतीय मूल के कृष्णा पर इस साल 16 फरवरी को भ्रष्टाचार का आरोप लगाया गया।

सिंगापुर: नशे में ड्राइविंग करने और पुलिसकर्मी को रिश्वत देने के जुर्म में भारतीय को मिली यह सजा

सिंगापुर में एक भारतीय मूल के मलेशियाई व्यक्ति को नशे में धुत होने के बाद ट्रैफिक पुलिस अधिकारी को रिश्वत देने की कोशिश के जुर्म में 5000 सिंगापुरी डॉलर (लगभग 28 लाख रुपये) और चार हफ्ते की सजा सुनाई गई है।

सिंगापुर की भ्रष्ट आचरण जांच ब्यूरो (CPIB) ने बताया कि 34 साल का कृष्ण राव नरीसामा नायडू पिछले साल  21 नवंबर को पायनियर रोड के पास एक मोटरसाइकिल दुर्घटना में शामिल था। जब पुलिस अधिकारी सीनियर स्टाफ सार्जेंट मुहम्मद अजहर और सार्जेंट फिरहान अब्दुल रशीद घटनास्थल पर पहुंचे तो कृष्णा ने सार्जेंट फिरहान के सामने स्वीकार किया कि उन्होंने शराब हुई है। कृ​ष्णा ने सार्जेंट फिरहान को एक 50 सिंगापुरी डॉलर का नोट दिया और सार्जेंट से मदद करने के लिए कहा।

सार्जेंट फिरहान ने पहले कृष्णा की जांच की​ जिसमें वह शराब पिए हुए पाया गया। बाद में उसकी व्यक्तिगत तलाशी लेने के बाद गिरफ्तार कर लिया गया। CPIB ने बताया कि व्यक्तिगत तलाशी के दौरान कृष्णा ने अपने बैग से एक 50 डॉलर (लगभग 28 हजार रुपये) का नोट निकाला था और उसे सार्जेंट फिरहान को देने की पेशकश की थी ताकि वह बच जाए। हालांकि सार्जेंट फिरहान ने रिश्वत नहीं ली और बाद में मामले की सूचना CPIB को दे दी।

पकड़े जाने के बाद मलेशियाई नागरिक भारतीय मूल के कृष्णा पर इस साल 16 फरवरी को भ्रष्टाचार का आरोप लगाया गया। इसके अलावा उसे एक गंभीर अपराधी के रूप में नशे में गाड़ी चलाने और लापरवाह ड्राइविंग के लिए भी दोषी ठहराया गया और सजा सुनाई गई। CPIB ने कहा कि सिंगापुर भ्रष्टाचार के प्रति सख्त जीरो टॉलरेंस का दृष्टिकोण अपनाता है। भ्रष्टाचार के अपराध के लिए दोषी ठहराए गए किसी भी व्यक्ति को 100,000 सिंगापुरी डॉलर यानी 55 लाख रुपये तक का जुर्माना और पांच साल तक की जेल या दोनों हो सकते हैं।