आंदोलन से घिरे पीएम ट्रूडो तो लोगों ने किसान आंदोलन की दिलाई याद

भारत में जब खेती कानून के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे थे तो पीएम जस्टिन ट्रूडो दिसंबर 2020 में किसानों के विरोध के समर्थन में सामने आए थे। भारत ने तब इसे 'अनुचित' करार दिया था। ट्विटर पर कई लोगों ने लिखा है कि ट्रूडो ने भारत में किसान आंदोलन को प्रोत्साहित किया था और अब उसी का सामना करना पड़ रहा है।

आंदोलन से घिरे पीएम ट्रूडो तो लोगों ने किसान आंदोलन की दिलाई याद

कनाडा में कोरोना वैक्सीन को अनिवार्य करने के फैसले के बाद प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के खिलाफ विरोध तेज हो गया है। प्रदर्शनकारियों में ज्यादातर ट्रक चालक हैं, जिनमें बड़ी संख्या में भारतीय मूल के सिख समुदाय के लोग शामिल बताए जा रहे हैं। इसे लेकर सोशल मीडिया पर लोग पीएम जस्टिन ट्रूडो की चुटकी ले रहे हैं। बता दें कि कनाडा के पीएम ने भारत में चले किसान आंदोलन का समर्थन किया था। अब वह खुद लोगों के विरोध का सामना कर रहे हैं।

सैकड़ों की संख्या में ट्रक और हजारों प्रदर्शनकारियों ने ओटावा की सड़कों को जाम कर दिया है। प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो और उनके परिवार को सुरक्षा चिंताओं के बीच एक अज्ञात स्थान पर ले जाया गया है। बता दें कि अमेरिका और कनाडा के बीच सफर तय करने वाले ट्रक ड्राइवरों में बड़ी संख्या में भारतीय मूल के सिख शामिल हैं। इनकी संख्या करीब डेढ़ से दो लाख के करीब है। और पूरे ट्रक ड्राइवरों में यह 40 फीसदी है।